अगर कोलकाता में मेरे आस-पास CRPF नहीं होती तो मेरी जान बचना मुश्किल था – अमित शाह

नई दिल्ली, लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरणों में बंगाल का रण एक बार फिर से हिंसक हो गया है। कोलकाता में हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में जमकर बवाल हुआ, हिंसा हुई और आगजनी भी हुई। बुधवार को दिल्ली में अमित शाह ने प्रेसवार्ता की और जमकर ममता के खिलाफ बोलै । अमित शाह ने कहा कि बंगाल में जो घटनाएं हुई हैं, उसी की हकीकत बताने आया हूं। देश में कहीं पर भी हिंसा नहीं हो रही है, लेकिन सिर्फ बंगाल में हो रही हैं। शाह ने कहा कि भाजपा तो पूरे देश में चुनाव लड़ रही है, लेकिन हिंसा सिर्फ पश्चिम बंगाल में हो रही है। अमित शाह ने कहा कि वह बड़ी मुश्किल से बचकर बंगाल से दिल्ली वापस आ पाए हैं। उन्होंने कहा कि अगर उनके पास सीआरपीएफ की सुरक्षा नहीं होती तो उनका बच पाना नामुमकिन था। जोड़ासांको और एमहर्स्ट स्ट्रीट थाने में यह एफआईआर दर्ज की गई है। बताया जा रहा है कि यह दोनों एफआईआर टीएमसी की छात्र ईकाई की शिकायत पर दर्ज की गई है। वहीं टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने समाजसेवी और दार्शनिक ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी है। टीएमसी ने आज इसकी शिकायत करने के लिए चुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा है। बंगाल में भाजपा की सम्भावना पर पूछे गए सवाल के जबाब में शाह ने कहा की वहां हम कम से कम 23 सीटें जीतने जा रहे हैं.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *