कमलनाथ ने पीएम को घेरा फिर पीएमओ को करनी पड़ी MP के लिए भी मुआवजे की घोषणा

नई दिल्ली,मंगलवार की रात अचानक मौसम में फेरबदल से देश के कई इलाकों में आंधी-तूफान और बारिश ने जमकर कहर मचाया। मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, मणिपुर और देश के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार देर रात तेज आंधी और बारिश से न सिर्फ कई लोगों की जानें गई हैं, बल्कि फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। प्रधानमंत्री मोदी ने भी देश के विभिन्न हिस्से में हुए जानमाल के नुकसान पर बुधवार को दुख जताया और जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेमौसम बारिश के कारण गुजरात के विभिन्न हिस्सों में हुये जानमाल के नुकसान पर बुधवार को दुख व्यक्त किया। नरेंद्र मोदी ने मोदी ने ट्वीट किया, ‘अधिकारी स्थिति पर बहुत करीब से नजर बनाए हुए हैं। प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता दी जा रही है। ‘सबसे पहले ट्वीट में प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा, पीएम मोदी ने गुजरात के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश और तूफान के कारण जान गंवाने वालों के परिजन के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की स्वीकृ‎ति दी है।
इस ट्वीट पर पीएम मोदी को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने घेरा और ट्वीट किया कि ‘मोदी जी, आप देश के पीएम ना कि गुजरात के। एमपी में भी बेमौसम बारिश व तूफ़ान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है। लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ़ गुजरात तक सीमित? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहां भी बसते हैं। हालांकि, इस मुद्दे पर विवाद होने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से अन्य राज्यों के लिए भी मुआवजे की घोषणा की गयी। सुबह करीब 11 बजे पीएमओ की ओर से ट्वीट आया कि मध्य प्रदेश, राजस्थान, मणिपुर स‎हित कई राज्यों में आंधी-तूफान की वजह से हुए नुकसान पर दुख व्यक्त करता हूं। यहां भी मृतकों के परिवार को 2 लाख, घायलों को 50 हजार की मदद की जाएगी। गौरतलब है ‎कि मध्य प्रदेश के कई जिलों में मंगलवार रात तेज आंधी और बारिश से बड़ी तबाही हुई। बिजली गिरने से पूरे राज्य में अलग-अलग इलाकों में 10 लोगों के मौत की खबर है।
हालांकि जानकारी के मुता‎बिक 16 लोगों की मौत हुई है। कई जगह पर ओले पड़ने से खेतों में फसल भी खराब हो गई है। खेतों में खड़ी और काट कर रखी फसलों के अलावा मंडियों में खरीद के बाद खुले में रखा सैकड़ों क्विंटल गेहूं और लहसुन भींग गया। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले दो दिनों में उत्तर-पश्चिमी और पूर्वी मप्र में आंधी के साथ ही हल्की बारिश की स्थिति बन सकती है। भोपाल में फिर से बूंदाबांदी हो सकती है। राजस्थान में तेज आंधी और बारिश के चलते 6 लोगों के मौत हो गई है। यहां मंगलवार को मौसम खुशनुमा रहा, लेकिन शाम तक धूलभरी आंधी, तेज बारिश व बिजली की वजह से 6 लोगों की मौत हुई। वहीं देश की राजधानी दिल्ली में बीती रात हुई हल्की बारिश और आंधी-तूफान के बाद मौसम मंगलवार सुबह सुहावना रहा। यहां का न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 20.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सोमवार को न्यूनतम तापमान 25. 5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि सामान्य के औसत से 5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *