UP में पहले चरण में पड़े 63 % वोट, कई दिग्गजों के भाग्य ईवीएम में बंद

लखनऊ,लोकसभा चुनाव के पहले चरण में उत्तर प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र की आठ सीटों पर गुरुवार को अपेक्षाकृत शांतिपूर्वक मतदान संपन्न हो गया। इस दौरान कुछ स्थानों से ईवीएम काम ना करने तथा मतदाता सूची में नाम ना होने जैसी षिकायतें आयीं। गर्मी के दिन होने के कारण सुबह सात बजे से ही मतदान केन्द्रों पर कतारें देखीं गयीं। दोपहर में मतदान की गति में कुछ कमी आयी लेकिन शाम होते-होते मतदान केन्द्रों पर एक बार फिर भीड़ देखने का मिली। औसतन इन आठ सीटों पर 63.69 फीसदी मतदान हुआ। मतदान के साथ ही कई सियासी दिग्गजों का राजनैतिक भविष्य ईवीएम में कैद हो गया।
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि पहले चरण के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। इस चरण में सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर सीटों के लिए मतदान हुआ। इस चरण में डेढ़ करोड़ मतदाता थे जिनमें 8224000 पुरुष तथा 6839000 महिलाएं शामिल हैं। इस चरण के लिए कुल 6716 मतदान केंद्र और 16581 मतदेय स्थल बनाए गए थे। उन्होंने बताया कि चुनाव को स्वतंत्र निष्पक्ष एवं भयमुक्त तरीके से संपन्न कराने के लिए व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त किए गए थे। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में सहारनपुर में 70.68, कैराना में 62.10, मुजफ्फरनगर में 66.66, बिजनौर में 65.40, मेरठ में 63 तथा बागपत में 63.90 फीसदी मतदान हुआ।
पहले चरण के चुनाव में केंद्रीय मंत्रियों जनरल वीके सिंह (गाजियाबाद) तथा महेश शर्मा (गौतम बुद्ध नगर) के साथ साथ रालोद प्रमुख चैधरी अजित सिंह (मुजफ्फरनगर) और उनके बेटे जयंत चैधरी (बागपत) समेत कई दिग्गजों का सियासी भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बंद हो गया। पहले चरण में मुजफ्फरनगर सीट पर सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर रालोद प्रमुख अजित सिंह का मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद संजीव बालियान से था। बागपत सीट पर अजित सिंह के बेटे जयंत चैधरी महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर मैदान में थे। वहां उनका मुकाबला मौजूदा सांसद भाजपा के सत्यपाल सिंह और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी चैधरी मोहकम से है।
इस चरण में गाजियाबाद सीट पर मौजूदा केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह का मुकाबला महागठबंधन के प्रत्याशी सुरेश बंसल और कांग्रेस उम्मीदवार डॉली शर्मा से था। नोएडा सीट से भाजपा के प्रत्याशी और मौजूदा केंद्रीय मंत्री डॉक्टर महेश शर्मा के सामने लगातार दूसरी बार इस सीट से संसद पहुंचने की चुनौती हंै। उनके मुकाबले में कांग्रेस ने डॉ अरविंद सिंह को उतारा है जबकि महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर सत्यवीर नागर मैदान में थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *