कांग्रेस सरकार ने बजट का आधा हिस्सा किसानों को दिया, जो कहा सो किया -भूपेश

बिलासपुर, घोषणा पत्र के आधे से अधिक वायदों को महज 60 दिनों में लागू करके दिखाने वाली कांग्रेस की प्रदेश सरकार है, दूसरी तरफ 60 माह के समय में जो कहा वो बिलकुल नहीं किया वाली भाजपा की केन्द्र में मोदी सरकार है। घोषणा पत्र और वायदों की याद दिलाने पर, सरकार से जुड़े सवाल पूछने पर राष्टद्रोही घोषित करने वाली यह मोदी सरकार गांव में किसानों की आत्महत्या और सीमा पर जवानों की शहादत पर मौन रहती है। १० लाख का सूट पहनने वाले और बिना निमंत्रण पाकिस्तान में जाकर इमरान खान की बिरयानी खाने वाले मोदी और उनकी पार्टी के लोंग आजकल राष्टभक्ति का प्रमाण पत्र बांट रहे हैं जिन्होंने खुद या उनके पुरखों ने कभी उंगली तक नहीं कटायी।
उक्त उद्गार लोरमी में आयोजित आम सभा में व्यक्त करते हुए कहा कि इन लोगों ने लोकतंत्र की सारी मर्यादाएं लांघ दी हैं। सवाल पूछने पर राष्टद्रोही व अपराधी घोषित करने वालों को खुली चुनौती देते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि यदि सवाल पूछना अपराध है तो मैं भी अपराधी हूं। अपने चिरपरिचित अंदाज में मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि किसानों के लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने का वायदा किया गया था उसका सवाल तो है, हर खाते में १५ लाख, विदेश से काला धन लाने, पेट््रोल – डीजल, रसोई गैस की कीमत कम करने, मंहगाई को कम करने का सवाल तो है साहब। दो करोड़ युवाओं को प्रति वर्ष रोजगार देने, महिलाओं को सुरक्षा देने, एक के बदले दस सर लाने, कश्मीर में धारा ३७० हटाने, बुलेट ट्ेर्न चलाने, भाजपा के संकल्प पत्र के सारे वायदे झूठे निकल जाने जैसे सैकड़ों सवाल तो है साहब। इन सवालों के जवाब तो देने होगें नोटबंदी में हजारों लोगों की जान जाने, जीएसटी में मध्यम वर्गीय परिवारों की कमर तोड?े का सवाल तो है साहब।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश को प्रयोगशाला बना दिया गया है संवैधानिक संस्थाओं को निरंतर कमजोर कर लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। जाति को जाति से धर्म को धर्म से लड़ाने के लिए जनता ने यह सरकार नहीं चुनी थी। विकास, शांति और भाईचारे से देश का ध्यान भटकाने के लिए निरंतर षड्यंत्र किए जा रहे हैं। गांव के गुड़ी में बैठने वाला छत्तीसगढ़ का हर बच्चा बच्चा आज इनकी सच्चाई को जानता है ऐसे जुमलेबाजों को सत्ता से बाहर करने का समय आ गया है। ऐसा बहुरूपिया जो कभी चाय वाला बन जाता हो, कभी फकीर बन जाता हो, कभी बुलेट ट्ेर्न चलाता हो, कभी १० लाख का सूट पहनता हो, कभी २ हजार करोड़ की विदेश यात्राएं कर लेता हो, कभी लगभग पांच हजार करोड़ के अपने विज्ञापन में लूटा देता हो कभी चौकीदार बन जाता हो ऐसे बहुरूपियों को ठीक करने के लोकतांत्रिक अधिकार मतदान का समय आप सबके पास आ गया है। आप सब अपने अधिकार का सही उपयोग करिए जिससे हम दिल्ली में भी राहुल गांधी के नेतृत्व में सरकार बना सकें और छत्तीसगढ़ में किसानों, नौजवानों सभी वर्गों के लिए जो किए हैं उससे ज्यादा कर सकें।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *