मीरवाइज पहुंचे दिल्ली टैरर फंडिंग मामले में NIA करेगी पूछताछ

नई दिल्ली. टैरर फंडिंग मामले कश्मीर के अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक को नेशनल इन्वेस्टिगेटिव एजेंसी एनआईए ने तलब किया है। मीरवाइज आज एजेंसी के सामने दिल्ली में पेश होंगे। एनआईए जम्मू-कश्मीर टैरर फंडिंग केस में मीरवाइज से पूछताछ करेगी। इससे पहले एनआईए ने बताया था कि एजेंसी ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। उन्हें तीसरी बार समन भेजा गया था, जिसमें मिरवाइज ने पहुंचने का आश्वासन दिया था। मिरवाइज ने इससे पहले दो समन के जवाब में सुरक्षा संबंधी चिंता जाहिर की थी। मीरवाइज के नेतृत्व वाले हुर्रियत गुट के एक प्रवक्ता ने कहा था कि मीरवाइज पूछताछ के लिए दिल्ली जाएंगे और प्रोफेसर अब्दुल गनी भट, बिलाल गनी लोन और मसरूर अंसारी समेत हुर्रियत कार्यकारिणी के सदस्य उनके साथ होंगे।
वहीं एनआईए के इस नोटिस के बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने इसे लेकर केंद्र पर निशाना साधा था। महबूबा मुफ्ती ने कहा था, ‘मीरवाइज फारूक कोई सामान्य अलगाववादी नेता नहीं हैं। वह कश्मीरी मुस्लिमों के धार्मिक और आध्यात्मिक प्रमुख हैं। एनआईए का उनको समन भेजना भारत सरकार के बार-बार हमारी धार्मिक पहचान पर हमले का प्रतीक है, लेकिन वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए जम्मू और कश्मीर को बलि का बकरा बनाया जा रहा है।’ बता दें कि एनआईए जांच में आतंकवादी गतिविधियों के लिए फंडिंग, सुरक्षा बलों पर पथराव, स्कूलों को जलाने और सरकारी प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचाने के पीछे तत्वों की पहचान करना है। इस मामले में पाकिस्तान स्थित जमात-उद-दावा (जेयूडी) के प्रमुख हाफिज़ सईद, प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा, सैयद अली शाह गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत गुट जैसे संगठनों के अलावा मीरवाइज, हिजबुल मुजाहिदीन और दुख्तारन-ए-मिलत जांच के घेरे में हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *