अगस्ता वेस्टलैंड केस में पूरक चालान पेश दलाल सुशेन गुप्ता नहीं दे रहा सही पहचान कौन है आरजी

नई दिल्ली,ईडी ने आज अगस्ता वेस्टलैंड मामले में यहां की अदालत में पूरक चालान पेश किया,ईडी ने मिशेल के हवाले बताया की एपी और fam जैसे शब्दों का किसके लिए इस्तेमाल किया गया है। इधर,अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले के आरोपी दलाल सुशेन गुप्ता ने बड़ा खुलासा किया है। गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय ने सुशेन गुप्ता की हिरासत की मांग करते हुए अदालत के समक्ष दावा किया कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला मामले में आरजी ने साल 2004 से 2016 के बीच 50 करोड़ की घूस ली। ईडी ने आरोप लगाया कि सुशेन गुप्ता ने आरजी’ द्वारा 50 करोड़ की घूस लेने की बात तो कबूली है, लेकिन इसका फुलफॉर्म यानी आरजी कौन है यह नहीं बता रहा है।
अदालत में ईडी ने कहा कि सुशेन गुप्ता जानबूझकर अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला मामले की जांच को भटकाने की कोशिश कर रहा है। वह आरजी का सही फुलफॉर्म नहीं बता रहा और गलत जानकारी दे रहा है। दरअसल, ईडी को सुशेन गुप्ता की डायरी और पेन ड्राइव में आरजी का कई बार जिक्र किया गया है। इसमें कहा गया कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले में आरजी ने साल 2004 से 2016 के बीच 50 करोड़ से ज्यादा की घूस ली। ईडी ने अदालत में दिए अपने बयान में कहा कि सुशेन गुप्ता आरजी को पहचानता है, लेकिन वह जानबूझकर इसकी जानकारी नहीं दे रहा है। वहां आरजी का फुलफॉर्म रजत गुप्ता बताया, जिसके बाद ईडी ने रजत गुप्ता से पूछताछ की। हालांकि रजत गुप्ता ने ईडी से कहा कि सिर्फ सुशेन गुप्ता ही जानता है कि आखिर आरजी कौन है?
ईडी का मानना है कि सुशेन गुप्ता जानबूझकर आरजी की पहचान नहीं बताना चाहता है। ईडी का यह बयान उस समय सामने आया है, जब लोकसभा चुनाव को लेकर सियासत जारी है। इससे पहले ईडी ने दावा किया था कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले आरोपी बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने पूछताछ के दौरान ‘मिसेज गांधी’ का नाम लिया था। दलाल मिशेल ने अगस्ता वेस्टलैंड से बातचीत में इटली महिला का बेटा….भारत का अगला पीएम बनेगा जैसे वाक्यांश का इस्तेमाल किया।
इस मामले में भारतीय जनता पार्टी ने मुद्दा बनाकर कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला बोला था। वहीं, गुरुवार को ईडी ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के खिलाफ एक सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की। सूत्रों के मुताबिक ईडी की इस सप्लीमेंट्री चार्जशीट में मिशेल का बयान और एक एफिडेविट भी शामिल है। सूत्रों का दावा है कि यह चार्जशीट बेहद अहम है और कुछ राजनेताओं व पूर्व ब्यूरोक्रेट्स के लिए समस्या पैदा कर सकती है।
कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी ईडी के सामने हुए पेश
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मनी लांड्रिंग मामले में गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश हुए। अधिकारियों ने बताया कि पुरी मामले के जांच अधिकारी से पूर्वाह्न करीब ११ बजे मिले। ऐसा माना जा रहा है कि पुरी का बयान प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया जाएगा। ईडी ने बुधवार को दिल्ली की एक अदालत को जानकारी दी थी कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर धनशोधन मामले में पुरी को पूछताछ के लिए बुलाया है। पुरी हिंदुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष हैं। पुरी की मां नीता कमलनाथ की बहन हैं। ईडी ने बताया था कि पुरी को इस मामले के कथित बिचौलिये सुशेन मोहन गुप्ता का सामना कराने के लिए तलब किया है। कोर्ट ने गुप्ता की हिरासत में पूछताछ की अवधि बुधवार को तीन दिन के लिए बढ़ा दी थी।
गुप्ता की हिरासत अवधि बढ़ाने की मांग करते हुए ईडी ने अदालत से कहा था कि उसका इस मामले में पुरी सहित विभिन्न लोगों से आमना-सामना कराया जाना है। यह मामला अब रद्द हो चुके 3,600 करोड़ रुपये के हेलीकॉप्टर सौदे से जुड़ा है। बुधवार को जांच में शामिल होने के लिए तलब किए गए पुरी ने इस मामले में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार कर दिया है। उनकी कंपनी ने अपने बयान में कहा था, ‘वह ईडी के साथ जांच में पूरी तरह से सहयोग करेंगे और जरूरत पड़ने पर कोई भी स्पष्टीकरण या जानकारी देंगे। वहीं उद्योगपति रतुल पुरी ने ईडी द्वारा अगस्ता वेस्टलैंड मामले में उन्हें बुलाए जाने पर कहा, ‘मैं जांच में पूरी तरह से सहयोग कर रहा हूं। मेरा अगस्ता वेस्टलैंड या रक्षा (डिफेंस) से कोई लेना-देना नहीं है। मैं एक स्वतंत्र व्यवसाय करता हूं। मेरा किसी भी रिश्तेदार के साथ कोई व्यापारिक व्यवहार नहीं है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *