फिर लौटा बंटाढार युग, ढाई मुख्यमंत्री चला रहे प्रदेश में सरकार, कब टपक जाए ठिकाना नहीं- शिवराज

अशोकनगर,भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश की सरकार को ढाई मुख्यमंत्री चला रहे हैं। यह सरकार कब टपक जाए इसका कोई ठिकाना नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने यह बात गुरुवार को स्टेशन रोड़ स्थित तुलसी पार्क पर विजय संकल्प यात्रा के दौरान आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कही।
सभा को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा कमलनाथ सरकार विफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि सतना में दो मासूम बच्चों की हत्या होना और प्रदेश भर में अराजकता का माहौल होना दर्शाता है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बल्कि डकैतों की सरकार काम कर रही है। कहा कि कांग्रेस के सफेद पोस नेता ये काम कर रहे हैं। शिवराज सिंह ने कहा कि मेरे कार्यकाल में मैंने संकल्प लिया था कि या प्रदेश में मैं रहूंगा या डाकू रहेंगे, मैंने पूरे डाकुओं का सफाया कर दिया था। श्री चौहान ने कहा कि इस सरकार को ढाई मुख्यमंत्री चला रहे हैं। एक जो सामने है, दूसरे जो पीछे है और आज तक सेना का अपमान कर रहे हैं और आधे मुख्यमंत्री वो हैं जिन्हें प्रदेश से उत्तरप्रदेश का प्रभार देकर निकाला दे दिया गया है। उन्होने ने कहा कि चुनाव आयोग जिस दिन लोकसभा चुनाव की घोषणा कर रहा था। उस दिन घोषणा शाम 5 बजे होना थी, कमलनाथ प्रार्थना कर रहे थे कि हे भगवान, आचार संहिता लगे तो जान छूटे, रोज कर्जा माफ। चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ही 2 बजे मोबाइल पर मैसेज आ गए। आचार संहिता लग गई है, अब आचार संहिता के बाद कर्जा माफ होगा। सीएम टाइम काटू अभियान चला रहे हैं। नीले, लाल-पीले रंग के फार्म भरवा रहे थे कि जैसे तैसे लोकसभा चुनाव आ जाए और जान छूटे। कर्जा माफ करना है, बहुत साधारण रास्ता है। बैंकों में पैसा जमा कर दो। बैंक किसानों से कह दें कि तुम्हारा पैसा माफ।
युवाओं को बेवकूफ बना रही सरकार:
कमलनाथ ने पूरे प्रदेश को बेवकूफ बनाने का काम किया है, न तो कर्ज माफ हुआ युवाओं के साथ भी छलावा करते हुए उन्हें जानवर चराने और बाजा बजाने की ट्रेनिंगें दी जा रहीं हैं। उन्होंने कमलनाथ एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर गलत तरीके से किसी के विरुद्ध झूठे मुकदमे दर्ज कराए गए तो मुझे लड़ाई लडऩे सडक़ों पर उतरना पड़े तो उतरूंगा।
लंगड़ी है प्रदेश सरकार:
चौहान ने कहा कि हमारी सरकार ने निर्णय लिया था कि प्रदेश में नई शराब की दुकान नहीं खोलेंगे और पुरानी दुकानों को धीरे धीरे बंदकर नशामुक्त प्रदेश बनायेंगे। जबकि कांग्रेस सरकार ने निर्णय लिया कि अब देशी शराब की दुकानों पर विदेशी शराब भी बेची जायेगी। कांग्रेस का यह निर्णय उनकी कार्य संस्कृति को दर्शाता है। कुछ दिनों पहले उनके मंत्री कन्यादान योजना की राशि का उपयोग देशी-विदेशी शराब के लिए बता रहे थे। उन्हीं के एक मंत्री गरीबों को मिलने वाली एक हजार रूपए पेंशन का उपयोग बीड़ी तंबाकू पीने में करने के लिए कहते हैं। श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कांग्रेस की लंगड़ी सरकार है, जो सपा, बसपा और निर्दलीयों की बैसाखी पर खड़ी है। यह सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है।
फिर लौट आया बंटाढार युग:
सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि 15 वर्ष पूर्व भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता संभालते ही चंबल क्षेत्र और पूरे प्रदेश से डकैतों का सफाया कर दिया था। पुलिस यही थी, प्रशासन यही था, लेकिन हमारी नीयत साफ थी कि मध्यप्रदेश की जनता भय और आतंक के माहौल से मुक्त रहे। लेकिन कांग्रेस की सरकार आते ही डकैतों का राज फिर लौट आया है। हत्या, लूट और अपहरण की घटनाएं बढ़ रही हैं। सतना में 2 मासूमों का अपहरण और उनकी लाशें मिलना, उसके बाद इंदौर, ग्वालियर जैसे अनेक शहरों में लगातार अपहरण की घटनाएं सामने आ रही हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि बंटाढार युग फिर लौट आया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *