दिल्ली में गरजे राहुल, कहा- आज कहीं भी बोलो चौकीदार तो यही आवाज आती है…

नई दिल्ली, भारतीय चुनाव आयोग रविवार को 17 वीं लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर चुका है। इसके मद्देनजर सभी पार्टियां अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गई हैं। इस कड़ी में कांग्रेस के लिए आज का दिन अहम है, क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में दिल्ली के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं में जोश भरने के अलावा राहुल पार्टी के चुनाव अभियान में तेज करने की कोशिश कर रहे हैं। इस सम्मेलन में दिल्ली के करीब 14 हजार ब्लॉक एवं बूथ स्तरीय कार्यकर्ता शामिल हुए हैं। कार्यकर्ताओं के साथ ही पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता भी यहां मौजूद हैं।
राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत में कहा कि कांग्रेस कमाल की पार्टी है हर रोज कुछ न कुछ सिखा देती है। चाको जी के लिए कहा गया कि उन्हें दिल्ली मत भेजिए उन्हें अंग्रेजी मलयालम आती है पर हिंदी नहीं आती, आज उन्होंने पूरा भाषण हिंदी दिया और वो भी कमाल का। इसके बाद राहुल ने प्रधानमंत्री पर हमला बोलना शुरू किया। उन्होंने कहा कि ५ साल पहले एक चौकीदार आया था और ये पार्टी का कमाल है कि आज कहीं भी चौकीदार बोलो तो दूसरी ओर से आवाज आती है, चौकीदार चोर है। ये पार्टी का नहीं आप का, कार्यकर्ताओं का कमाल है।
राहुल आगे बोले कांग्रेस ने सदन में 4 सवाल पूछे लेकिन पीएम मोदी ने किसी का जवाब नहीं दिया। डेढ़ घंटे तक आंखें नहीं मिला सके मुझसे। छत्तीसगढ़ और एमपी में भाजपा के पास इतना पैसा था कि सबने मान लिया था, मीडिया ने मान लिया था कि भाजपा जीतेगी लेकिन कांग्रेस पार्टी जीती। वह आगे बोले मोदी जी कहते हैं कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार दूंगा और रात को 8.00 बजे नोटबंदी घोषित कर दी। उसके बारे में मनमोहन सिंह जी ने कहा कि जीडीपी में 2 प्रतिशत का घाटा होगा, वही एक साल बाद हुआ। पुलवामा में बम फूटा किसने फोड़ा? जैश-ए-मोहम्मद ने फोड़ा, उसके पीछे मसूद अजहर। उसे कंधार में किसने छोड़ा, आज जो सुरक्षा सलाहकार हैं अजीत डोभाल उन्होंने ही मसूद अजहर को पाकिस्तान को सौंपा। पूरा देश जानता है कि आज जो पीएम हैं उनके मुंह से सच्चाई नहीं निकल सकती। उन्होंने भारत चीन संबंधों पर बोला कि चीन के राष्ट्र प्रमुख यहां आते हैं और डोकलाम में उनकी सेना भी आ जाती है, लेकिन पीएम मोदी उनके साथ झूला झूलते हैं और बिना एजेंडा की बैठक करने चीन पहुंच जाते हैं।
पीएम मोदी पर करारा हमला बोलते हुए राहुल ने कहा कि जैसे ही उनके सामने कोई डटकर खड़ा हो जाता है और कहता है कि मैं नहीं हटूंगा आपके रास्ते से, तो वह अपना रास्ता ही बदल लेते हैं। उनकी और आरएसएस की विचारधारा डर और नफरत की विचारधारा है। वह आगे बोले कि आप गोडसे का हिंदुस्तान चाहते हो या गांधी का। गांधी जी निडर और प्यार लिए और दूसरी तरफ डर नफरत। उन्होंने यहां वीर सावरकर पर भी हमला बोला। आज हिंदुस्तान के सामने दो चैलेंज है एक रोजगार है। उन्होंने बैंकों द्वारा अनिल अंबानी, विजय माल्या, मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को कर्जा देने और फिर भाग जाने पर भी हमला बोला। राहुल ने बोला, साढ़े तीन लाख करोड़ 15 लोगों का कर्जा भाजपा ने माफ किया है।
राहुल ने कहा दुनिया में पेट्रोल के दाम बढ़े लेकिन हिंदुस्तान में बढ़े। किसको फायदा हुआ उन्हीं 15-20 लोगों को। राहुल गांधी ने मिनिमम इनकम की भी बात की। कांग्रेस की सरकार बनने पर भारत में मिनिमम इनकम लागू किया जाएगा। अपने दूसरे मुद्दे पर बोलते हुए राहुल ने कहा कि देश के सामने दूसरा चैलेंज है किसानों की रक्षा। 2019 में कांग्रेस की सरकार बनते ही भारत, चीन से प्रतियोगिता करना शुरू कर देगा। वहां 24 घंटे में 50 हजार लोगों को रोजगार मिलता है और यहां 450 लोगों को। अगर आप छोटे व्यापारी हैं तो आपको लोन नहीं मिलेगा लेकिन अनिल अंबानी हैं तो आपके जेब में 45-50 करोड़ रुपए ऐसे ही मिल जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने अपना भाषण खत्म किया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *