एयर इंडिया की लंदन-दिल्ली फ्लाइट के इकोनामी क्लास में फैला टॉयलेट का गंदा पानी, परेशान हुए यात्री

नई दिल्ली, विमानों में टॉइलट जाम होने की वजह से उन्हें उड़ान के दौरान यात्रियों के लिए बंद कर देना एक आम बात हो गई है। पिछले शनिवार एयर इंडिया की लंदन-दिल्ली फ्लाइट के यात्री उस समय संकट में घिर गए, जब जब एक ओवरफ्लो हो चुके टॉयलेट का गंदा पानी इकॉनमी क्लास केबिन के कारपेट एरिया में फैल गया। इसके बाद यात्रियों को प्रभावित हिस्से से निकालकर दूसरी सीटों पर बिठाना पड़ा।
इसके बाद क्रू मेंबर्स ने कारपेट पर आए पानी को कंबलों और कागजों से ढक दिया और यात्रियों की सहूलियत के लिए दिल्ली तक आने वाली लंबी फ्लाइट में परफ्यूम का भी छिड़काव किया। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा हमने मामले की जांच की है और पाया कि टॉयलेट के बांईं तरफ वाली नाली में एक तौलिया फंसा हुआ था, जिसके चलते फ्लाइट में टॉइलट ओवरफ्लो हो गया।
एक दूसरे एयर इंडिया अधिकारी ने कहा कि इसका मुख्य कारण था यात्रियों द्वारा किया दुरपयोग। उन्होंने कहा केबिन क्रू ने पहले ही कहा था कि अगर टॉयलेट में तौलिए को फ्लश किया गया तो नाली जाम हो जाएगी और बड़े खतरे हो सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद ऐसा ही किया गया।
एआई112 में यह समस्या 9 फरवरी को लंदन एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए उड़ान भरने के तुरंत बाद शुरू हो गई थी। फ्लाइट की उड़ान में टेक्निकल कारणों के चलते थोड़ी देरी हुई थी। लेकिन उड़ान भरने के थोड़ी देर में ही इकॉनमी क्लास के बांयीं तरफ पानी आना शुरू हो गया। उस दौरान फ्लाइट में मौजूद रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया इकॉनमी क्लास में बदबू-भरा पानी आना शुरू हो गया। क्रू ने जल्द ही कारपेट को अखबारों और कंबलों से ढक दिया और बदबू को दबाने के लिए डियोड्रेंट और परफ्यूम का छिड़काव किया।
यात्रियों ने अपना मुंह और सिर जैकेट व शॉल से ढक लिया। एयर इंडिया में लगातार यात्रा करने वाले लोगों का कहना है कि एयरलाइन में एक और बड़ी समस्या है बैक-ऑफ-सीट इनफ्लाइट एंटरटेनमेंट (आईएफई) सिस्टम जो काम नहीं करता है, जोकि लंबी फ्लाइट्स के लिए एक जरूरी चीज है। यह समस्या तब हो रही है जबकि अब अधिकतर बड़ी इंटरनेशनल एयरलाइन्स ऑनबोर्ड वाई-फाई भी ऑफर कर रहीं हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *