आधार कार्ड बायोमेट्रिक फर्जीवाड़े मामले में एक शख्स गिरफ्तार

जींद, आधार कार्ड बायोमेट्रिक फर्जीवाड़ा मामले में पुलिस ने जींद से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया हैं। बता दे कि पुलिस ने इस मामले में 2 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था, जिसमें से एक युवक जींद और दूसरा बिहार का निवासी है। जींद निवासी युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। यह मामला यूआईडीएआई की शिकायत पर बायोमैट्रिक मिसयूज करने के आरोपों पर दर्ज हुआ था। गौरतलब है कि जींद में एक युवक के साथ बड़ा फर्जीवाड़ा करने का मामला सामने आया था। हरियाणा से बाहर रह रहे किसी शातिर व्यक्ति ने जींद में आधार कार्ड बनाने वाले एक युवक की फिंगरप्रिंट्स का मिस यूज करते हुए 25000 से ज्यादा आधार कार्ड बना डाले। इन फर्जी आधार कार्डों में कई कार्ड ऐसे थे, जिनके साथ एक भी डॉक्यूमेंट नहीं लगाया गया। यही नहीं इस व्यक्ति में आधार कार्ड बनाने वाले व्यक्ति विक्रम की फिंगर प्रिंट्स का मिस यूज करके दो बार बैंक से पेमेंट भी निकलवा ली।
यानी कि विक्रम की आईडी और फिंगर प्रिंट्स यूज करके कोई और मिस यूज कर रहा है। परंतु कंपनी ने विक्रम को ही जिम्मेदार मानते हुए उस पर साढे 33 लाख रुपए का जुर्माना ठोंक दिया और उसे ब्लैक लिस्टेड भी कर दिया। उसके बाद सच्चाई को उजागर करने व फर्जीवाड़ा करने वाले को पकड़वाने के लिए विक्रम पिछले कई समय से दर-दर की ठोकरे खा रहा है। इसके लिए उसने गांव की पुलिस चौकी से लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक गुहार लगाई, परंतु किसी के यहां कोई भी सुनवाई नहीं हो रही है। विक्रम ने बताया कि नवंबर महीने में उसके फिंगरप्रिंट का मिस यूज कर किसी ने हरियाणा के बाहर से उसके अकाउंट से 1000 रुपए निकाल लिए। इसके के कुछ दिन बाद दोबारा फिंगरप्रिंट्स का प्रयोग कर 7500 रुपए निकाल लिए गए।
ज विक्रम ने 14 नवंबर 2018 को अपना कंप्यूटर ऑन किया तो, उसे कंपनी द्वारा ब्लैकलिस्ट दिखाया गया। मेल के जरिए विक्रम ने कारण पूछा तो कंपनी ने बताया गया कि वह अपने आईडी का मिस यूज कर रहा है, इसलिए से ब्लैक लिस्ट कर दिया है। उसे यह भी पता चला कि उसकी आईडी का मिस यूज करके किसी ने 25000 से अधिक फर्जी आधार कार्ड भी बनाए है, जिसमें से तकरीबन 333 आधार कार्ड ऐसे है, जो बिना डाक्यूमेंट्स के ही बनाए गए हैं। विक्रम का कहना है कि इस फर्जीवाड़े को उसी का फर्जीवाड़ा मानकर कंपनी ने उस पर साढे तीन लाख रुपए का जुर्माना भी ठोक दिया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *