लॉर्ड कर्जन के बाद ममता बनर्जी ने किया बंगाल का विभाजनः शिवराज

खड़गपुर,लॉर्ड कर्जन के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ऐसी दूसरी नेता हैं, जो बंगाल का विभाजन कर रही हैं। वे राज्य में तुष्टिकरण की नीति चला रही हैं और बांग्लादेशी घुसपैठियों का स्वागत कर रही हैं। लेकिन ममता जी को जान लेना चाहिए कि उनकी यह तानाशाही ज्यादा दिन चलेगी नहीं। यह बात बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पश्चिम बंगाल के खड़गपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए कही। पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा हैलीकॉप्टर लैंडिंग की अनुमति न दिए जाने पर चौहान सड़क मार्ग से खड़गपुर पहुंचे थे।
सरकार चलाने के अलावा सब कुछ कर रही ममता दीदी
पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और आप सभी के लिए, पश्चिम बंगाल के लिए शुभकामनाएं लेकर आया हूं। लेकिन जब तक ममता दीदी मुख्यमंत्री हैं, बंगाल का कल्याण नहीं हो सकता। चौहान ने कहा कि आजकल ममता दीदी सरकार चलाने के अलावा सब काम कर रही हैं। वे भाजपा की सभाएं रोकने में लगी हैं। अमित शाह जी का हैलीकॉप्टर न उतर पाए, मोदी जी की सभा न हो पाए, योगी जी की सभा न हो पाए, शिवराज का हैलीकॉप्टर न उतर जाए, ममता दीदी इसी चिंता में दुबली हो रही हैं। चौहान ने कहा कि आप किस-किस को रोकोगी ममता दीदी, कब तक रोकोगी और कैसे रोकोगी। आपने हैलीकॉप्टर नहीं उतरने दिया तो हम गाड़ी से आ गए। गाड़ी रोकोगी, तो पैदल आ जाएंगे।
रात तुम्हारी है, तो सुबह हमारी होगी
चौहान ने कहा कि प. बंगाल की धरती पर अन्याय की अति हो गई है। जुल्म की पराकाष्ठा हो गई है। भाजपा के कार्यकर्ता मारे जा रहे हैं, जनता को कुचलने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस की हिंसा में अब तक हमारे 65 कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं। मैं उन कार्यकर्ताओं के जज्बे को प्रणाम करता हूं और पश्चिम बंगाल के लोगों को यह भरोसा दिलाना चाहता हूं कि इस लड़ाई में आप अकेले नहीं हैं, पूरा देश आपके साथ है। चौहान ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सुन लो ममता जी, हम ये तानाशाही आगे नहीं चलने देंगे। उन्होंने एक शेर की पंक्तियां सुनाते हुए कहा कि- नूर की एक किरण जुल्मात पर भारी होगी, रात तुम्हारी है, लेकिन सुबह हमारी होगी। उन्होंने ममता बनर्जी को संबोधित करते हुए कहा कि कब तक अत्याचार करोगे, कब तक हमारे कार्यकर्ताओं को मारोगे। सुन लो ममता दीदी, भाजपा ने ये संकल्प किया है, कि जब तक आपकी तानाशाही की लंका को जलाकर राख नहीं कर देंगे चैन से नहीं बैठेंगे।
ममता दीदी को गरीबों की नहीं, पुलिस कमिश्नर की चिंता
चौहान ने कहा कि हमने अब तक ममता दीदी जैसा मुख्यमंत्री नहीं देखा। एक पुलिस अफसर को बचाने के लिए धरने पर बैठ गईं। मैं पूछना चाहता हूं, पूरा देश जवाब चाहता है कि ममता जी आप पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को क्यों बचाना चाहती हो। यदि कमिश्नर से पूछताछ हो जाती, तो कौन फंसता, किस की गड़बड़ियां सामने आतीं, आप किस की चिंता में दुबली हो रही हो। कभी धरने पर बैठती हो, आपकी नींद गायब हो जाती है। चौहान ने कहा कि पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार किस हैसियत से धरने पर बैठे। क्या कभी ऐसा होता है कि कोई आईपीएस अफसर धरने पर बैठ जाए। उन्होंने कहा कि जब सीबीआई जांच कर रही हैं, तो आप जांच में सहयोग क्यों नहीं कर रहे हैं। चौहान ने कहा कि सारदा घोटाले में गरीब, मेहनतकश लोगों का पैसा डूब गया। ये लोग दर दर की ठोकर खा रहे हैं, कई लोगों ने आत्महत्या कर ली। इन गरीबों का पैसा कंपनी खा गई, ममता दीदी को इनकी चिंता नहीं है। उन्हें तो उस पुलिस अफसर को बचाने की चिंता है। चौहान ने कहा कि पहले कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल पर राज किया, लेकिन गरीबी के अलावा कुछ नहीं दिया। फिर वामपंथी आए और पूरे प्रदेश को हिंसा में झौंक दिया। अब टीएमसी की सरकार है और प्रदेश को गरीबी और हिंसा के साथ-साथ अराजकता के भंवर में भी धकेल दिया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *