गडकरी का पलटवार, हिम्मत के लिए राहुल के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं

नई दिल्ली,मेरी हिम्मत के लिए मुझे राहुल गांधी के सर्टिफिकेट की जरूरत नही है। यह कहना है केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर पलटवार किया। गडकरी ने एक के बाद एक ट्वीट में कहा, आश्चर्य इस बात का है की एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष होने बाद भी हमारी सरकार पर हमला करने के लिए आपको मीडिया द्वारा ट्विस्ट किए गए खबरों का सहारा लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, यही मोदी जी और हमारे सरकार की कामयाबी है कि आप को हमला करने के लिए कंधे ढूंढने पड़ रहे हैं। गडकरी ने दो टूक कहा, राफेल में हमारी सरकार ने देश हित सामने रख कर सबसे पारदर्शक व्यवहार किया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस की नीतियों ने किसानों को जिस बदतर स्थिति में खड़ा किया उससे उनको बाहर निकालने की ईमानदार कोशिश मोदीजी कर रहे हैं। कुछ लोगों को मोदी का प्रधानमंत्री बनना सहन नहीं हो रहा इसलिए असहिष्णुता व संवैधानिक संस्थाओं पर हमले का सपना आता है। गडकरी ने कहा, हमारे और कांग्रेस के डीएनए में यही अंतर है की हम लोकतंत्र और संवैधानिक सस्थाओं पर विश्वास करते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि मोदी फिर प्रधानमंत्री बनेंगे और हम मजबूती के साथ देश को आगे बढ़ाएंगे। मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को सोमवार को ‘बधाई’ दी। उन्होंने कहा कि गडकरी ने सच बात कहने का साहस दिखाया है तथा उम्मीद है कि वह अन्य मुद्दों पर भी इसी तरह की बेबाकी से अपनी बात कहते रहेंगे। राहुल ने ट्वीट किया कि गडकरी जी, बधाई। भाजपा में आप एक मात्र नेता है, जिनमें सच कहने का कुछ साहस है। कृपया राफेल तथा किसानों की दुर्दशा और संस्थानों को बर्बाद किए जाने के बारे में भी कुछ कहिए। इसके साथ ही उन्होंने एक खबर पोस्ट की है जिसमें गडकरी ने कहा है कि जो अपना घर नहीं संभाल सकता, उसके लिए देश को देखना आसान नहीं है। बाद में उन्होंने एक और ट्वीट में कहा, गडकरी जी। माफी चाहता हूं। मैं सबसे महत्वपूर्ण विषय-नौकरी को भूल गया था। राहुल के टवीट के बाद भाजपा में भी बयानबाजी का दौर शुरु हो गया है और राहुल के बयान पर गडकरी ने भी पलटवार किया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *