सौतन ने जान से मारने डेढ़ लाख की दी थी सुपारी, मुख्य आरोपी सहित 3 गिरफ्तार

बिलासपुर,आंगनबाड़ी सहायिका को गोली मारकर फरार होने वाले मुख्य आरोपी समेत पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। सौतन ने जान से मारने के लिए डेढ़ लाख की सुपारी दी थी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्रीमती अर्चना झा ने बताया कि तखतपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मोतिमपुर में आंगनबाड़ी में सहायिका गीता उर्फ़ जोगिता बंजारे को अज्ञात युवक ने 15जनवरी की दोपहर गोली मारकर फरार हो गया था। घटना के पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने आरोपियों को पकड़ने के लिए तखतपुर पुलिस और सायबर सेल की टीम दिशा-निर्देश देकर पकड़ने के लिए लगाया था। पुलिस की टीम आरोपी का पता लगाने में जुटी हुई थी। जांच के दौरान टीम को पता चला कि घायल गीता उर्फ़ जोगिता बंजारे आंगनबाड़ी सहायिका की काम करती है। जिसका विवाह 1987 में पवन बंजारे निवासी कुरूद जिला धमतरी से हुआ था, कुछ दिनों पश्चात इसके पति का किसी अन्य महिला से प्रेम संबंध होने से दूसरी पत्नी बना लिया इसी बीच महिला ने अपने पति से पृथक होकर अलग रहने लगी और उसके खिलाफ दहेज प्रकरण, भरण पोषण, घरेलू हिंसा का केश लगा दी थी जिससे उसकी सौतन उर्मिला भास्कर पति पवन बंजारे निवासी लालपुर ने परेशान होकर आहिता को समझाने के लिए कई बार उसके घर मोतिमपुर गई किन्तु महिला के नहीं मानने पर सौतन उर्मिला ने गीता उर्फ़ जोगिता बंजारे आंगनबाड़ी सहायिका मोतिमपुर को मरवाने के लिए यशवंत सोनी निवासी सुकली थाना लोरमी को 1,50,000 रूपये में सुपारी दी थी। यशवंत सोनी ने मरवाने का षडयंत्र कर अपने भतीजा त्रिलोचन उर्फ़ गुड्डू सोनी निवासी पहंदा चौकी बेलगहना थाना कोटा को जोगिता बंजारे को मारने के लिए भेज दिया। त्रिलोचन उर्फ़ गुड्डू सोनी ने बताया कि दिनांक १५ जनवरी को दोपहर के समय प्लान के मुताबिक आंगनबाड़ी मोतिमपुर पहुंचकर सहायिका को देशी कट्टा से फायर कर मारकर स्कूल के पीछे खेत तरफ भाग गया।
प्रकरण में आरोपिया सौतन उर्मिला भास्कर को गिरफ्तार कर 25.01.2019 को आरोपी यशवंत सोनी निवासी सुकली थाना लोरमी को 01 फरवरी को एवं आरोपी त्रिलोचन उर्फ़ गुड्डू सोनी को 2 फरवरी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल दाखिल किया गया है। इस कार्रवाई में तखतपुर के निरीक्षक शरद चंद्रा थाना प्रभारी, उनि राकेश साहू, किरण सिंह, सउनि पटेल, रामचंद्र, प्र.आर.शिव साहू, नवीन दुबे, भैयामणी शुक्ला, तिर्की, आरक्षक संजय कश्यप, राजेश डाहिरे, मिथलेश सोनवानी एवं महिला आरक्षक सुनीता धु्रर्वे एवं साईबर सेल से सउनि हेमंत आदित्य व उसके टीम का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *