शराब के पैसे से गौ सेवा योगी का यह कैसा धर्म : वित्त मंत्री

जबलपुर, मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कटाक्ष करते हुए कहा कि शराब पर सरचार्ज लगाकर गौ सेवा का धर्म वो ही निभायें, हमारी सरकार गौ सेवा के लिये ऐसा बिल्कुल नहीं करेगी। हम अपने संसाधनों से गौ सेवा का वचन पूरा करेंगे। वित्त मंत्री तरुण भनोत यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। सामाजिक न्याय, नि:शक्त कल्याण एवं अनुसूचित कल्याण मंत्री लखन घनघोरिया ने भी पत्रकारों को संबोधित किया।
श्री भानोत ने कहा कि भले ही फिलहाल प्रदेश सरकार कर्ज में डूबी हुई है फिर भी प्रदेश की जनता पर किसी भी तरह का कोई नया टैक्स नहीं थोपा जाएगा। पुरानी सभी योजनाओं और विभागों की वित्तीय स्थिति की समीक्षा की जा रही है जो कल्याणकारी योजनाएं हैं उन्हें जारी रखा जाएगा।
छोटी मानसिकता से नहीं करेंगे काम…..
उन्होंने कहा कि आज अधिकारियों के साथ हुई बैठक में स्पष्ट निर्देश दिया है कि जबलपुर के विकास के लिये सभी विभाग दूरगामी योजनाएं बनाएं और समन्वयपूर्वक द्रुतगति से उसका अमल प्रारंभ किया जाए। जबलपुर के विकास में कांग्रेस के चारों विधायक जी-जान से काम करेंगे और छिंदवाड़ा मॉडल की तर्ज पर विकसित करेंगे। इस विकास में भाजपा के विधायकों के प्रस्ताव न केवल शामिल किया जाएगा बल्कि उनका योगदान भी लिया जाएगा। हम छोटी सोच के साथ काम नहीं करेंगे।
जबलपुर को बनाएंगे अपराधमुक्त : लखन घनघोरिया
मंत्री लखन घनघोरिया ने कहा कि यह जबलपुर के लिये गौरव की बात है कि जबलपुर संभाग से मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष बने हैं तो वहीं शहर से केबिनेट स्तर के दो मंत्री हैं। वित्त मंत्री तरुण भाई हैं, इसलिये यह विश्वास रखा जाना चाहिए कि अब विकास की गाडी सरपट दौड़ेगी, धन की कमी नहीं आएगी। श्री घनघोरिया ने बताया कि पुलिस अधिकारियों को साफ बताया दिया गया है कि मादक पदार्थों, जुआ-सट्टा और अवैध कारोबार को बंद कराने तत्काल एक्शन में आ जाएं। हमें जिले को अपराधमुक्त बनाना है। उन्होंने बताया मां नर्मदा हमारी आस्था का प्रतीक हैं इसलिये आज ही से नर्मदा नदी में मिलने वाले गंदे नालों को रोकने काम प्रारंभ कर दिया जाए। यातायात के नाम पर छोटे दुकानदारों, गुटमी-ठेले वालों पर अन्याय न किया जाए, उनके लिये वैकल्पिक स्थान चयनित कर व्यवस्थित किया जाए।
कल्पना अनुरुप बनेगी मेडीकल यूनिवर्सिटी…..
मंत्री द्वय का दावा है कि मेडीकल यूनिवर्सिटी की जो कल्पना थी उसके अनुरुप से उसे बनाया जाएगा। यूनिवर्सिटी से इस बाबद विस्तृत प्रजेण्टेशन तैयार करने कह दिया गया है। तैयार प्रजेण्टेशन के साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ चर्चा की जाएगी और पर्याप्त धन और संसाधन
का अनुरोध किया जाएगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में जबलपुर का समुचित विकास होगा।
मंत्री द्वय द्वारा अधिकारियों को दिये गए निर्देश के मुख्य अंश….
– नर्मदा नदी में गंदे नाले न मिले इसके लिये फौरन काम शुरु किया जाए।
– मादक पदार्थो, स्मैक, जुआ-सट्टा और अवैध कारोबार पर कडाई से लगाम लगाई जाए।
– स्वच्छता और स्वास्थ्य व्यवस्था सुदृढ की जाए।
– सभी स्थानीय विभाग शहर विकास के प्रस्ताव तैयार करें।
– जलप्लावन रोकने कार्ययोजना बनाई जाए।
– गरीब और निचली बस्तियों में सफाई और जल निकासी की व्यवस्था की जाए।
– सुगम यातायात और जगह-जगह पार्विंâग के लिये योजना बनाएं।
– गुमटी-ठेले और रहडी वालों के लिये वैकल्पिक प्लान तैयार कर अमल में लाया जाए।
– शास्त्री ब्रिज का विकल्प तैयार करें। फिलहाल इसका चौडीकरण किया जाए।
– शहर को जाम से मुक्त कराने छोटे-छोटे फ्लाई ओव्हर की योजना तैयार हो।
– शहर के पुराने बाजारों का स्वरुप बरकरार रखते हुए व्यवस्थित करने का प्लान बनाया जाए।
– नगर निगम एक्ट के अनुसार मोहल्ला समितियां बनाई जाएं।
– पुलिस राजनैतिक दबाव में नहीं जनहित में काम करे। कडी पुलिसिंग होनी चाहिए।
– बरसाती पानी निकासी के लिये बने आधे-अधूरे नाले की समीक्षा करें।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *