ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती झटकों के बाद संभाली पारी दूसरे दिन AUS ने 191 रनों पर 7 विकेट गंवाए

एडिलेड, मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने भारत के पहली पारी के 250 रनों के जबाब में दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने पर अपनी पहली पारी में 7 विकेट के नुकसान पर 191 रन बना लिए थे। उस समय हेड 61 और स्टार्स 8 रन बनाकर खेल रहे थे। इस प्रकार ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में भारत से 59 रन पीछे है। इसके पहले आज लंच के समय उस्मान ख्वाजा 21 और शॉन मार्श 1 रन बनाकर खेल रहे थे। आस्ट्रेलिया का पहला विकेट एरॉन फिंच का गिरा। फिंच अपना खाता भी नहीं खोल पाये थे। फिंच को इशांत शर्मा ने पहले ओवर की तीसरी गेंद पर ही पवेलियन भेज दिया। इसके बाद, मार्कस हैरिस 26 ने ख्वाजा के साथ मिलकर 45 रनों की साझेदारी कर टीम को संभालने का प्रयास किया पर अश्विन ने हैरिस को मुरली विजय के हाथों कैच आउट कर आस्ट्रेलिया को दूसरा झटका दिया।
ख्वाजा ने मार्कस के आउट होने के बाद भोजनकाल की समाप्ति तक बिना कोई और नुकसान किए मार्श के साथ तीसरे विकेट के लिए 12 रन बनाकर टीम को 57 रनों के स्कोर तक पहुंचा दिया। इससे पहले, चेतेश्वर पुजारा 123 की शतकीय पारी के बल पर भारतीय क्रिकेट टीम ने एडिलेड ओवल मैदान पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन अपनी पहली पारी में 250 रन पर ही आउट हो गयी। दूसरे दिन भारत की अंतिम जोड़ी एक रन भी नहीं बना पायी।
आज तीन विकेट टीम इंडिया के अनुभवी स्पिनर अश्विन रविचन्द्रन को मिले। अश्विन की गेंदबाज़ी से टीम इंडिया बराबरी पर आ गयी। इस दौरान युवा विकेट कीपर ऋषभ पंत ने कप्तान विराट कोहली और अश्विन को डीआरएस लेने में सहायता कर विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी की यादें ताज़ा कर दी। धोनी भी इसी प्रकार डीआरएस लेते थे। ये अहम विकेट उस्मान ख्वाजा का था। अश्विन ने 40वें ओवर की तीसरी गेंद फेंकी जो कि बिल्कुल मामूली सा टर्न लेते हुए ख्वाजा के बल्ले के पास से निकली। ऋषभ और अश्विन ने इस गेंद पर ज़ोरदार अपील की. लेकिन अंपायर धर्मसेना ने इसे नकार दिया। इसके बाद बिना देर किए अश्विन और ऋषभ ने तुरंत डीआरएस की मांग कर दी। जिसके बाद डीआरएस में देखने पर थर्ड अंपायर ने ख्वाजा को आउट करार दिया. टीम इंडिया के लिए ये विकेट इसलिए अहम था क्योंकि उस्मान ख्वाजा जमने लगे थे। अगर ख्वाजा थोड़ी देर और टिकते तो भारत की मुश्किलें बढ़ सकती थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *