बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश 3 दिन बाद अरेस्ट, दूसरे आरोपी ने वीडियो जारी कर शहीद इंस्पेक्टर को कहे अपशब्द

बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में हुई हिंसा के मुख्य आरोपी बजरंग दल के जिला अध्यक्ष योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसे इंस्पेक्टर की हत्या करने और दंगा फैलाने के मामले में गिरफ्तार किया है। इस हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक स्थानीय युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में 2 एफआईआर दर्ज की है। इसमें 27 नामजद और 50-60 अज्ञात लोगों के नाम दर्ज किए गए हैं। मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार की अध्यक्षता में पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। इस मामले में उप्र एसटीएफ भी मदद कर रही हैं।
वहीं, गुरुवार को सुबोध के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट की। सरकार ने सुबोध के परिजन को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा पहले ही की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि घटना की हर स्तर से जांच की जाएगी और किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। सुबोध के दोनों बेटों की पढ़ाई का पूरा खर्च सरकार उठाएगी। मकान और बच्चों की पढ़ाई के लिए लिया गया 30 लाख रुपए का कर्ज भी सरकार चुकाएगी। परिवार को असाधारण पेंशन, एक सदस्य को नौकरी और पत्नी को पेंशन भी दी जाएगी। इसी बीच बुलंदशहर हिंसा में यूपी पुलिस को हिला देने वाला एक और वीडियो आया है। खुद को शिखर अग्रवाल बताने वाला ये शख्स उंगली उठाकर खुद को बेगुनाह बता रहा है। जिस इंस्पेक्टर ने बुलंदशहर में शहादत दी, उन्हीं के लिए ये अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहा है। पुलिस कातिलों को ढूंढ़ रही है। और बुलंदशहर के आरोपी एक-एक कर सामने आ रहे हैं। वीडियो बना रहे हैं। वीडियो में वो कहा रहा है- ‘मेरा ही नाम शिखर अग्रवाल है। मैं बीजेपी युवा मोर्चा का नगर अध्यक्ष हूं। पुलिस, मीडिया ने घटना को तोड़-मरोड़कर पेश किया है। ऐसी पार्टियों को सपोर्ट करता हूं जो देश में गाय, गंगा और गायत्री को स्थापित करना चाहती हैं। मैं डॉक्टरी का छात्र हूं। शिखर कह रहा है- ‘मैं जा रहा था। देखा गाय के अवशेष पड़े हैं। अवशेष ट्रॉली में लेकर चौकी जाने लगे। तभी सुबोध सिंह ने रोका। उपजिलाधिकारी को बताया कि सुबोध ने धमकी दी है। ये आरोपी ख़ुद फ़रार है। इस पर शहीद अफ़सर की हत्या का केस दर्ज है। ये पुलिस से भागा-भागा फिर रहा है। लेकिन इसकी बेशर्मी देखिए। जिस अफ़सर ने शहादत दी। जो भीड़ को समझाते-समझाते, उन्हें शांत कराते शहीद हो गया। उनके लिए किस तरह अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहा है। हिंसा का आरोपी बीजेपी नेता शिखर वीडियो में बोल रहा है- ‘ स्याने का बच्चा-बच्चा जानता है सुबोध कुमार सिंह करप्ट इंसान है। मुस्लिम समुदाय से यारी करके हमारी माताओं पर प्रहार करवाया है। ये बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आप सुन रहे हैं। अगर फुरसत मिल जाए तो अपनी एनकाउंटर वाली यूपी पुलिस से कहिए कि इस आरोपी को गिरफ्तार कर जल्द से जल्द सलाखों के पीछे भेजे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *