बांदा में मनरेगा की खुदाई के दौरान मटके में मिले प्राचीन सिक्के

बांदा, यूपी के बांदा शहर में मनरेगा योजना के अंतर्गत हो रही खुदाई के दौरान पुरातात्विक महत्व के सिक्कों से भरा एक मटका मिलने से उस क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मरका थानांतर्गत खुदाई के दौरान ये प्राचीन सिक्के मिले हैं। गांववालों ने ये सिक्के पुलिस को सौंप दिए हैं और पुलिस ने भारतीय पुरातत्व विभाग को सूचना दी है। सिक्के मुगल कालीन समय के बताए जा रहे हैं। जिले के काजीटोला स्थित गरड़ा नदी के किनारे मनरेगा के तहत किनारे बने एक टीले की खुदाई का काम किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि खुदाई के दौरान राम भवन निषाद नाम के एक मजदूर को कुछ मटका से नजर आया। उसने हाथों से मिट्टी हटाकर देखा तो वास्तव में वहां एक मटका था और उसमें कुछ सिक्के से नजर आ रहे थे।
उसने काम कर रहे अन्य मजदूरों को बुलाया। सबने उन सिक्कों को निकाला तो वह सुनहरे रंग के मटमैले सिक्के थे। मजदूरों ने ग्राम प्रधान को सूचना दी। ग्राम प्रधान ने स्थानीय थाने की पुलिस को बुलाया। सिक्कों का मटका पुलिस ने जब्त कर लिया है। ग्राम प्रधान ने बताया कि सिक्के पीतल या तांबे की धातु के नजर आ रहे हैं। एसपी एस आनंद ने बताया कि सिक्कों को सुरक्षित रख लिया गया है। कुछ लोगों का कहना है कि सिक्के मुगलकालीन के हैं। गिनती में 111 सिक्के मिले हैं। भारतीय पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। वे ही जांच के बाद सिक्कों के बारे में बता सकेंगे। कुछ जानकारों ने सिक्के देखकर बताया कि सिक्कों में उर्दू भाषा की 906 हिजरी दर्ज है और अरबी भाषा में लिखा हुआ है। इस समय 1440 हिजरी चल रहा है इसलिए संभव है कि ये सिक्के 1484 ईसवीं के होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *