प्रद्युम्न केस: आरोपी छात्र के भविष्य का फैसला बुधवार को

नई दिल्ली, दिल्ली से सटे गुरुग्राम में भोंडसी स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को हुई प्रद्युम्न हत्या मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में सुनवाई होनी है। आरोपी छात्र की सोशल इंवेस्टिगेशन रिपोर्ट भी सबमिट की जा सकती है। प्रोबेशन ऑफिसर की अगुवाई में यह रिपोर्ट तैयार हो चुकी है। इसके लिए छात्र के दोस्तों, आसपास के लोगों, परिजनों व बाल सुधार गृह में उसका व्यवहार व बच्चे से बातचीत कर रिपोर्ट तैयार की गई है। बता दें कि 8 सितंबर को उक्त स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था। मामले की जांच सीबीआई के अधीन जाने के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया था और सीबीआई ने 11वीं कक्षा के छात्र को सात नवंबर को हिरासत में ले लिया था। इसके बाद अशोक को अदालत से जमानत मिल गई थी। प्रद्युम्न के पिता की ओर से जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में याचिका दायर कर आरोपी पर बालिग की तरह केस चलाने की याचिका दायर की गई थी। इस पर बोर्ड ने आरोपी छात्र की सोशल इंवेस्टिगेशन रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे। यह रिपोर्ट 15 दिन में बोर्ड के समक्ष पेश की जानी थी। ताकि मामले की सुनवाई हो। इस मामले में सीबीआई ने बोर्ड के समक्ष आरोपी छात्र की उंगलियों के निशान लेने की अनुमति भी मांगी थी। जिस पर बोर्ड ने सुनवाई के लिए 29 नवंबर की तारीख निश्चित की है। आरोपी के बालिग व नाबालिग होने की याचिका पर सुनवाई सोशल इंवेस्टिगेशन रिपोर्ट के आधार पर तय होनी है। सूत्रों की मानें तो बुधवार को होने वाली सुनवाई के दौरान प्रोबेशन ऑफिसर इसकी रिपोर्ट बोर्ड के समक्ष पेश कर सकती है। इसके बाद इस पर सुनवाई होगी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *