मुलायम ने जन्म दिन की पार्टी में अखिलेश को पुचकारा, कार्यकर्ताओं को फटकारा

लखनऊ,सत्ता के बेदखल चल रही समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव अपने 79 वें जन्मदिन पर बुधवार को जहां बेटे अखिलेश के साथ नरम दिखाई दिए। वहीं दूसरी ओर मुलायम सिंह यादव ने पार्टी कार्यकर्ता व युवा नेताओं को विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त पर जमकर लताड़ भी लगा दी। उन्होंने कहा कि इतना बुरा हाल तो अयोध्या कांड में भी नहीं हुआ था।मुलायम सिंह ने कहा पांच साल हमारी सरकार के रहने के बाद भी हमें 47 सीटें आए तो ये सपा के युवाओं के लिए शर्म की बात है।बुधवार को जन्मदिन के मौके पर मुलायम ने घोषणा की कि वह अपने बेटे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को आशीर्वाद देते हैं और आगे भी देते रहने वाले है। उन्होंने कहा, वह बेटे को आशीर्वाद देते हैं तो चर्चा हो जाती है।अखिलेश मेरे लिए पहले मेरा बेटा है और इसके बाद में राजनेता।
मुलायम सिंह ने कहा,अखिलेश यादव कुछ और कहते हैं और मैं कुछ और कहता हूं। दोनों का झगड़ा आज तक चल रहा है। प्रदेश में सिर्फ 47 सीटें मिलीं, पार्टी की हार का जिम्मेदार कौन है? मुलायम ने कहा कि वह पार्टी को बर्बाद होते नहीं देख सकते हैं। मुलायम ने इस मौके पर कहा कि मैंने अपने दम पर पार्टी खड़ी की है और इसमें किसी ने उनकी मदद नहीं की। लखनऊ में एसपी पार्टी कार्यालय में अपने जन्मदिन की उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को अपने हाथों से जन्मदिन का केक खिलाया। उन्होंने अपने भाषण में अखिलेश की तारीफ भी की और बातों-बातों में शिकायत भी की। उन्होंने कहा कि जन्मदिन पर वह किसी को उल्टा सीधा नहीं कहने वाले है। अखिलेश की तारीफ के बाद विधानसभा में मिली करारी शिकस्त पर कार्यकर्ताओं को मुलायम सिंह ने फटकार लगाते हुए कहा कि एसपी के युवाओं शर्म करो कि विधानसभा चुनाव में 47 सीटें आईं। इतना बुरा हाल पार्टी का तो अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने के बाद भी नहीं हुआ।मुलायम ने कहा कि पार्टी के दो नेता ऐसे बैठे हैं,जिनके पोलिंग बूथ पर समाजवादी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है। मुलायम सिंह ने आगे कहा कि पार्टी के इस हश्र के लिए कौन-कौन जिम्मेदार है। इसके लिए पार्टी में कौन जिम्मेदारी लेगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *