किसानों के लिए काल बना कीटनाशक 34 की मौत, डीओए निलंबित

मुंबई, महाराष्ट्र में किसानों के कीटनाशक काल बन गया हैं इस कीटनाशक के कारण महाराष्ट्र में अब तक 34 किसानों की मौत हो चुकी है। यहां आंकड़ा पिछले तीन माह का है। बताया जाता हैं कि महाराष्ट्र सरकार ने यवतमाल में कीटनाशक के छिड़काव के कारण संक्रमण से हुए किसानों की मौत के मामले में जिला कृषि विकास अधिकारी (डीओए) दत्तात्रेय कलसाई को निलंबित कर दिया है।बता दें कि इससे पहले 9 अक्टूबर को, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने केंद्र और महाराष्ट्र सरकार के समक्ष इस मुद्दे को उठाया था। गौरतलब है कीटनाशक के छिड़काव से महाराष्ट्र में अब तक 34 किसानों की मौत हो गई है। इसमें सबसे ज्यादा मौतें यवतमाल 20,नागपुर में 7,अकोला में 6 और अमरावती में 1 किसान की मौत हुई है।
पिछले तीन महीनों के दौरान,कपास के फसल पर किये गए कीटनाशक के छिड़काव के कारण हुए संक्रमण से कई किसानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनमें से कईयों की मौत हो गई और कईयों की हालत गंभीर है। इसके बाद राज्य सरकार ने इस मामले में जांच की भी घोषणा की थी। नतीजतन, एनएचआरसी ने इसके बाद मुख्य सचिव, महाराष्ट्र सरकार, केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय को नोटिस जारी कर चार सप्ताह के भीतर इस मामले में एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी।
दूसरी तरफ महाराष्ट्र कृषि मंत्री ने कहा कि किसान दस्ताने और सुरक्षात्मक उपकरण इस्तेमाल करने के निर्देशों का पालन नहीं करते हैं। राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 12 लाख रुपए की मुआवजे की राशि देने की घोषणा की थी। इसके अलावा राज्य सरकार के मुख्य सचिव को किसानों के मुफ्त और बेहतर इलाज सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *