पहाड़ो पर नमक की खेती, 1200 रुपए किलो नमक

पेरू, पेरू के दक्षिण पूर्व शहर कुशको स्थित मारस की पहाड़ी जो समुद्र तल से 3000 मीटर की ऊंचाई पर है । इस पहाड़ी पर स्थानीय लोग छोटे-छोटे तालाब बनाकर नमक की खेती करते हैं। पेरू में इस पहाड़ी को नमक की खदानों के नाम से जाना जाता है। नमक की खेती को देखने के लिए देश और विदेश से लाखों सैलानी यहां पहुंचते हैं। कहा जाता है कि शाम के वक्त जब ढलते सूरज की किरणें इस पहाड़ी पर पड़ती हैं। तब यहां का दृश्य बहुत खूबसूरत होता है। 2013 में यहां पर 12 लाख सेलानी इस नमक की खेती को देखने के लिए पहाड़ पर आ गए थे।
पहाड़ी पर प्राकृतिक तरीके से नमक का उत्पादन किया जाता है यहां पर ढाई सौ ग्राम नमक 5 डालर पर बिकता है जो भारतीय मुद्रा में लगभग 1260 रुपए किलो होता है।
मान्यता है कि पेरू में 900 ईसा पूर्व से पहाड़ो में नमक की खेती किए जाने का प्रचलन है। अभी भी यहां के 5000 तालाबों में नमक की खेती हो रही है।
नमक की खेती देखने के लिए यहां जो सैलानी आते हैं। उन्हें 200 रूपया फीस देना पड़ती है। स्थानीय प्रशासन के अनुसार 2016 में यहां पर 20 लाख पर्यटक आए थे। इस पहाड़ी पर आने वाले पर्यटकों की संख्या पिछले 5 सालों में बड़ी तेजी के साथ बढ़ी है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *