जल सत्याग्रह कर सरदार सरोवर भरने का विरोध जताया

Featured Posts

भोपाल का रानी कमलापति रेलवे स्टेशन राष्ट्र को समर्पित

भोपाल,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि भोपाल के भव्य रेलवे स्टेशन का कायाकल्प ही नहीं हुआ बल्कि रानी कमलापति ...

Read More

जनजातीय कार्यक्रम में शिरकत करने और रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का लोकार्पण करने पीएम मोदी कल भोपाल आएंगे

भोपाल,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल 15 नवम्बर को एक दिन की यात्रा पर भोपाल आयेंगे। मोदी अमर शहीद भगवान बिरसा मुंडा ...

Read More

युवाओं को समाज के प्रति संवेदनशील बनाती है एनएसएस

भोपाल, माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में सोमवार को राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई ने नवागत विद्यार्थियों के ...

Read More

एक अक्टूबर से शुरू होगी भोपाल में सड़कों की मरम्मत

भोपाल शहर की सड़कों की मरम्मत का कार्य आगामी एक अक्टूबर से शुरू करें। मरम्मत का कार्य निर्धारित मानदण्डों के ...

Read More

डॉ. एनपी मिश्रा चिकित्सा जगत के आदर्श और प्रेरक व्यक्तित्व थे

भोपाल,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम मानस भवन में स्व डॉ. एन.पी. मिश्रा की श्रद्धांजलि सभा में शामिल हुए । ...

Read More

बड़वानी,सरदार सरोवर बांध को भरने का यहाँ विरोध शुरू हो गया है.एनबीए कार्यकर्ता ने कहा गांधीजी के अस्थि कलश और विस्थापन को लेकर आंदोलन बडवानी धार ही नहीं पुरे देश में शुरू कर दिया गया है. डूब प्रभावित ने जल सत्याग्रह कर सरकार को चेतावनी दे दी है की स्थाई पुनर्वास नहीं होने और सुविधाए मुहय्या नहीं होने तक डूब प्रभावित क्षेत्र को नहीं छोडेंगे. वही एनबीए कार्यकर्ता अमूल्य ने बताया की सरकार और प्रशासन बापू की अस्थि कलश और विस्थापन के मुद्दे को लेकर ये न समझे की आंदोलन सिर्फ दो जिले बडवानी और धार तक ही सिमित नहीं है इन मामलों में आंदोलन अब पुरे देश में शुरू हो गए है.इसके आलावा तमिलनाडु चेन्नई सहित कई प्रदेशो में सामाजिक संघठन इन मुद्दों को लेकर कार्यक्रमों का आयोजन कर रहे है साथ ही अमूल्य ने यह भी बताया की 31 जुलाई के बाद गाँव खाली कराने के लिए पुलिस बल का प्रयोग नहीं करने के निर्देश भी कोर्ट ने दिए है एसा करने पर कोर्ट की अवमानना होगी वही जल सत्याग्रह करने वालो के बिच एक कुत्ता भी आकर बैठ गया जिसके बाद डूब प्रभावितों ने सरकार और प्रशासन पर व्यंग कसते हुए कहा की जानवर भी विस्थापितों का दर्द समझकर उनके साथ जल सत्याग्रह में शामिल हो गया लेकिन सरकार और प्रशासन विस्थापितों की वेदना समझने को तैयार नहीं है.

उधर, नई दिल्ली में रविवार को मध्यप्रदेश के बड़वानी में सरदार सरोवर की डूब में आई  गांधी जी एवं  कस्तूरबा गांधी की समाधि को अन्यंत्र पहुंचाने के विरोध में युवा कांग्रेस ने प्रार्थना सभा का आयोजन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *