फिर बाल-बाल बचे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, सवार होने से पहले 2 फीट ऊपर उठा हेलीकॉप्टर

मुंबई, एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस हेलीकॉप्टर हादसे में बाल-बाल बच गए. तीन महीने में यह तीसरी वारदात है. यह घटना शुक्रवार को दोपहर १ बजकर ५५ मिनट की बताई गई है. प्राप्त खबर के अनुसार मुख्यमंत्री फडणवीस विधायक जयंत पाटील के जन्म दिवस तथा नाट्य गृह का उद्घाटन करने शुक्रवार को अलीबाग गए थे. कार्यक्रम से वापस मुंबई आने के लिए जब मुख्यमंत्री फडणवीस हेलीकॉप्टर में सवार होने के लिए डोलवी धरमतर स्थित जेएसडब्ल्यू इस्पात कंपनी के हेलीपैड पर पहुंचे तभी यह हादसा हुआ. मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर में सवार होने से पहले अचानक हेलीकॉप्टर दो फीट ऊपर उठ गया. मुख्यमंत्री के सुरक्षा गार्ड ने फुर्ती दिखाते हुए उन्हें नीचे खींचा. इस पूरे घटनाक्रम में मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर फैन से मामूली दूरी पर रह गए थे. बाद में उसी हेलीकॉप्टर से मुख्यमंत्री फडणवीस ने मुंबई के लिए उड़ान भरी. मुख्यमंत्री के पीए अभिमन्यु पवार और स्थानीय जिलाधिकारी मालिकनेर ने इस घटना के बारे में पुष्टि की है. वे इस घटना के समय मौके पर मौजूद थे. मीडिया को दी गई जानकारी में अभिमन्यु पवार ने माना कि मुख्यमंत्री के बैठने से पहले पायलट का हेलीकॉप्टर का पंखा चलाना सही नहीं था. समय बचाने के लिए ऐसा किया गया. लेकिन यह एक भारी तकनीकी भूल थी.
– तीन महीने में यह तीसरी वारदात
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ पिछले तीन महीनों में यह तीसरा वाकया है. मुख्यमंत्री बनने के बाद पहले गढ़चिरौली, फिर निलंगा और अब अलीबाग, इस तरह तीन घटनाओं में देवेंद्र फडणवीस हादसे में सुरक्षित बचे हैं. शुक्रवार के वाकये के बाद मुख्यमंत्री फडणवीस उसी हेलीकॉप्टर से मुंबई पहुंचे और अपने सरकारी आवास रवाना हुए. निलंगा में हुई इस घटना के बाद मुख्यमंत्री ने मीडिया से बात की थी. लेकिन शुक्रवार की घटना के बाद उनकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. हालांकि, मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से बयान जारी कर कहा गया है कि अलीबाग में हुई घटना में हेलीकॉप्टर को दुर्घटनाग्रस्त न माना जाए. हालांकि इस बात का कोई खुलासा नहीं किया गया है कि मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर में सवार होने से पहले पंखा क्यों शुरू किया गया और क्यों कोई पायलट पैसेंजर के सवार होने के बाद सुरक्षा जांच करने के लिए जमीन पर मौजूद नहीं था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *