जबलपुर जोन में ट्रेनों की स्पीड औसत रफ्तार से भी नहीं चल पा रही

भोपाल,जबलपुर जोन में ज्यादातर ट्रेनें अपनी औसत गति से भी नहीं दौड़ पा रही है। इस वजह अधिकारियों ने ज्यादातर ट्रैक पुराने एवं कई जगहों पर मरम्मत का काम चलना बताया है।मालूम हो कि जबलपुर जोन में ट्रेनें औसत स्पीड 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी नहीं दौड़ पा रही है। जिसके कारण यात्री तय समय में एक से दूसरे स्टेशन पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। ट्रेनों की कम स्पीड़ से जुड़ा यह मामला संसद की हाउस कमेटी के सामने आया। जिस पर कमेटी के सदस्यों ने रेलवे के अधिकारियों से वजह जाननी चाहिए तो पता चला कि ज्यादातर ट्रैक पुराना है, कई जगह काम चल रहा है। अधिकारियों का कहना है कि कई बार घाट सेक्शन में काम के चलते भी ट्रेनों को औसत से कम स्पीड से चलाना पड़ता है। जिस पर सदस्यों ने कहा कि ऐसा नहीं चलेगा। ट्रेनों की स्पीड बढ़ानी पड़ेगी। इसके लिए बजट में पर्याप्त राशि की व्यवस्था है। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि सुधार करेंगे। कमेटी के सदस्य होटल जहांनुमा पैलेस में जबलपुर, बिलासपुर समेत एक अन्य रेलवे जोन में चल रहे रेल प्रोजेक्ट और यात्री सुविधाओं का रिव्यू कर रहे थे। इस मौके पर जोन के रेलवे अधिकारी मौजूद थे। इसके अलावा बैरागढ़ स्टेशन को भोपाल मंडल में शामिल करने पर चर्चा हुई। ताकि भोपाल और हबीबगंज स्टेशन पर बढ़ते दबाव को देखते हुए उसे विकसित किया जा सके। अभी स्टेशन रतलाम मंडल में शामिल होने के कारण उपेक्षित है। भविष्य को देखते हुए बैरागढ़ को विकसित करना जरूरी है। कमेटी ने इस प्रस्ताव पर रेलमंत्री से चर्चा करने की बात कही है। साथ ही सुखीसेवनिया स्टेशन को विकसित करने पर भी चर्चा की। हबीबगंज स्टेशन: कमेटी के सदस्यों ने वर्ल्ड क्लास में शामिल हबीबगंज स्टेशन के रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट की प्रगति रिपोर्ट पूछी। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि हाल ही में स्टेशन डेवलपर कंपनी को हैंडओवर हुआ है। जिस पर कमेटी के सदस्यों ने स्टेशन को जल्द विकसित करने का सुझाव दिया। राजधानी भोपाल को राजस्थान सीमा के स्टेशनों से जोड़ने वाली रामगंजमंडी रेल लाइन पर चर्चा हुई। जिसमें रेलवे के अधिकारियों ने कमेटी के सदस्यों को बताया कि झालावाड़ा से ब्यावरा तक भूमि अधिग्रहण का काम लगभग पूरा हो चुका है। साल 2017 के अंत तक ब्यावरा से भोपाल तक भी पूर्ण हो जाएगा। जिस पर कमेटी के सदस्यों ने कहा कि यह प्रधानमंत्री की प्राथमिकता वाला प्रोजेक्ट है जिसका काम समय सीमा में पूर्ण होना चाहिए। इस संबंध में संसदीय कमेटी के सदस्य व सांसद राजगढ़ रोडमल नागर का कहना है कि जबलपुर जोन से जुड़े पेंडिंग और वर्तमान प्रोजेक्टों पर चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *