एक जुलाई से बदल जाएगा रेलवे के तत्काल टिकट का नियम

नई दिल्ली,रेलवे एक जुलाई से अपने मौजूदा नियमों में कई बड़े बदलाव करने जा रहा है। रेलवे ने लोगों के सफर आरामदायक बनाने के लिए बेटिंग टिकट के झंझट को खत्म करने का फैसला किया है वहीं तत्काल टिकट के नियमों में भी भारी बदलाव किया है। १ जुलाई से तत्काल टिकट कैंसिलेशन पर ५० फिसदी की राशी वापस की जाएगी। यानी १ जुलाई से तत्काल टिकट को कैंसिल कराने पर रेलवे ५०फीसदी पैसा रिफंड करेगा। इससे पहले रेलवे तत्काल टिकट कैंसिल करने पर एक भी पैसा रिफंड नहीं करता था चाहे वह टिकट ऑनलाइन बुक कराई हो या फिर टिकट काउंटर से लिया गया हो।
इतना ही नहीं एसी कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करने के समय में भी बदलाव कर दिया गया है। १ जुलाई के बाद अगर आप एसी कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करना चाहते हैं तो फिर आपको सुबह १० बजे से ११ बजे के बीच में ही टिकट बुक करना होगा। वहीं दूसरी ओर स्लीपर कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करने का समय पहले जैसा ही यानी सुबह ११ बजे से दोपहर १२ बजे तक रहेगा।
१ जुलाई से बदल जाएंगे रेलवे के ये १० नियम…
– सुविधा ट्रेनों में टिकट वापसी पर ५० फीसदी किराए की वापसी होगी। इसके अलावा एसी-२ पर १०० रुपए, एसी-३ पर ९० रुपए, स्लीपर पर ६० रुपए प्रति यात्री कटेंगे।
– वेटिंग लिस्ट का झंझट खत्म हो जाएगा। रेलवे की ओर से चलाई जाने वाली सुविधा ट्रेनों में यात्रियों को कन्फर्म टिकट की सुविधा दी जाएगी।
– १ जुलाई से तत्काल टिकट कैंसिल करने पर ५० फीसदी राशी वापस किए जाएंगे।
– १ जुलाई से तत्काल टिकट के नियमों में बदलाव हुआ है। सुबह १० से ११ बजे तक एसी कोच के लिए टिकट बुकिंग होगी जबकि ११ से १२ बजे तक स्लीपर कोच की बुकिंग होगी।
– १ जुलाई से राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में पेपरलेस टिकटिंग की सुविधा शुरु हो रही हैं। इस सुविधा के बाद शताब्दी और राजधानी ट्रेनों में पेपर वाली टिकट नहीं मिलेगी, बल्कि आपके मोबाईल पर टिकट भेजा जाएगा।
– जल्द ही रेलवे अगल-अगल भाषाओं में टिकटिंग की सुविधा शुरु होने जा रही हैं। अभी तक रेलवे में हिंदी और अंग्रेजी में टिकट मिलती है, लेकिन नई वेबसाइट के बाद अब अलग-अगल भाषाओं में टिकट की बुकिंग की जा सकेगी।
– रेलवे में टिकट के लिए हमेशा से मारामारी होती रहती है। ऐसे में १ जुलाई से शताब्दी और राजधानी ट्रेनों में कोचों की संख्या बढ़ाई जाएगी।
– भीड़भाड़ के दिनों में रेलगाड़ी में बेहतर सुविधा देने के लिए वैकल्पित रेलगाड़ी समायोजन प्रणाली, सुविधा ट्रेन शुरु करने और महत्वपूर्ण ट्रेनों की डुप्लीकेट गाड़ी चलाने की योजना है।
– रेल मंत्रालय ने १ जुलाई से राजधानी, शताब्दी, दुरंतो और मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों के तर्ज पर सुविधा ट्रेन चलाई जाएगी।
– १ जुलाई से रेलवे प्रीमियम ट्रेनों को पूरी तरह से बंद करने जा रहा है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *