मुसलमान भी चाहते हैं अयोध्या में राम मंदिर-योगी आदित्यनाथ

अयोध्या,उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश के बहुत से मुसलमान अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में हैं। बुधवार को अयोध्या में रामलला के दर्शन को गए योगी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों को बातचीत का सुझाव देकर रास्ता सुझाया है।
योगी ने कहा कि वे मुस्लिमों की भावनाओं का आदर करते हैं तथा कई मुस्लिम संगठनों ने उनसे लखनऊ में मिलकर रामजन्मभूमि हिन्दुओं को देने का प्रस्ताव किया था। योगी के दौरे के समय जय श्री राम के नारे लग रहे थे इस पर योगी ने कहा कि जो भी अयोध्या आता है राम का जयकारा लगाए बिना नहीं रहता।
इससे पहले आदित्यनाथ ने यहां रामलला के दर्शन किए। साथ ही सरयू तट पर पूजा भी की। इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर मुद्दे पर बंद कमरे में बैठक की। बैठक में मौजूद महंतों ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए हिंदू समाज ने बहुत इंतजार कर लिया। साथ ही उन्होंने प्रस्तावित राम मंदिर ढांचा की तस्वीर सीएम योगी को भेंट की।
ये बैठक दिगंबर अखाड़ा पर हुई। बैठक में भाजपा सांसद विनय कटियार समेत बीजेपी विधायक शामिल रहे। सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में योगी आदित्यनाथ ने तमाम संतों को जल्द राम मंदिर मुद्दे के समाधान का भरोसा दिलाया। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से आम सहमति बनाने की पहल की जाएगी। योगी ने कहा कि इसके लिए वो जिला मजिस्ट्रेट से बात भी करेंगे।
सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ हुई इस मीटिंग में संत समाज के कई बड़े चेहरे शामिल रहे। महंत सुरेश दास, धर्म दास, श्री नारायणाचार्य, गौरी शंकर दास, देवेंद्र प्रसादाचार्य और जन्मिजेय शरण ने बैठक में सीएम योगी के सामने राम मंदिर का मुद्दा उठाया। वहीं बाबरी विध्वंस में साजिश के आरोपी विनय कटियार समेत सांसद बृजभूषण सिंह, विधायक खब्बू तेवरी, रामचंदर यादव, वेद प्रकाश गुप्ता और बाबा गोरखनाथ ने भी इस बैठक में हिस्सा लिया। महंत धरमदास ने बैठक में कहा कि हिंदू समाज ने काफी लंबे समय तक इंतजार कर लिया है। उन्होंने कहा, ‘ अब क्योंकि योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री हैं, इसलिए राम मंदिर निर्माण के लिए जल्द कदम उठाने चाहिए।
बता दें कि योगी आदित्यनाथ बतौर मुख्यमंत्री राम लला के दर्शन करने वाले उत्तर प्रदेश के दूसरे मुख्यमंत्री हैं। इससे पहले बतौर मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह २००२ में अयोध्या गये थे। १९९१ में हुए बाबरी विध्वंस के बाद राम लला के दर्शन करने वाले वह दूसरे मुख्यमंत्री हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *