दहेज की मांग पर भिड़े वर-वधू पक्ष एक दर्जन घायल

बाराबंकी, थाना कोठी अन्तर्गत बीती रात दहेज दानवों ने विवाह के मौके पर दहेज में मोटर साइकिल और ३० हजार रुपये की मांग को लेकर हुए विवाद में जनातियों और बारातियों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ। जिसमें करीब एक दर्जन लोग गम्भीर रुप से घायल हो गये। लड़की के पिता की तहरीर पर कोठी पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके घायलों को चिकित्सीय परीक्षण के लिये भेज दिया है। घटना के बाद से गांव में काफी तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। जानकारी के अनुसार, थाना कोठी क्षेत्र के ग्राम तपापुर निवासी पुत्तीलाल कश्यप ने अपनी लड़की पूजा की शादी कोतवाली नगर क्षेत्र के ग्राम मसूदपुर निवासी रिंकू कश्यप के साथ में तय की थी। पुत्तीलाल ने तिलक में अपनी हैसियत के अनुसार मौके पर दहेज दिया था। उसके बाद बीती शाम जब रिंकू बारात लेकर ग्राम तपापुर पहुंचा तो वहां पर जनातियों ने बारातियों का जोरदार स्वागत किया। नाश्ता पानी और द्वार पूजा हो जाने के बाद जब जयमाल का कार्यक्रम शुरु हुआ इसी बीच दूल्हे रिंकू ने पुत्तीलाल से कहा कि दहेज में जो पैसा बकाया था वह पैसा मुझे दो और मोटर साइकिल भी मुझे चाहिये। इसी बात को लेकर पहले पुत्ती लाल ने बारातियों और दूल्हे के हाथ पैर जोड़े और कहा कि इज्जत दांव पर लगी है जो भी दहेज है वह शादी के बाद ही मैं दे दूंगा। लेकिन इस पर बात नही बनी तो पहले जनातियों और बारातियों में तू-तू मैं-मैं हुई उसके बाद गाली गलौज हुआ और फिर देखते ही देखते बारात स्थल कुरुक्षेत्र में बदल गया। दोनो तरफ से जमकर लाठी डण्डे ईंट गुम्मे चले। देखते देखते वहां पर भगदड़ मच गयी। जो जहां पर भागने की स्थिति में हुआ वह वहीं से गांव छोड़कर निकल भागा। करीब एक घण्टे तक चले इस खूनी संघर्ष में जनातियों और बारातियों की तरफ से एक दर्जन लोग गम्भीर रुप से घायल हो गये हैं। घायलों में लड़की पक्ष से रामनरेश कश्यप, सुनील कुमार, विकास कुमार और लड़के पक्ष से हीरालाल, मोहित कुमार, मनीष कुमार, शिवलाल सहित करीब एक दर्जन लोग गम्भीर रुप से घायल हो गये। कुछ ग्रामीणों ने इसकी सूचना जब कोठी पुलिस को दी तो सूचना मिलते ही मौके पर प्रभारी निरीक्षक पूरे दल बल के साथ पहुंच गये और सभी घायलों को १०८ एम्बुलेंस के माध्यम से सीएचसी कोठी पहुंचाया और वहां से घायलों को डाक्टरों ने जिला अस्पताल को रिफर कर दिया। प्रभारी निरीक्षक ने लड़की के पिता पुत्तीलाल की तहरीर पर दूल्हे सहित एक दर्जन लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। इस घटना के बाद से गांव में अभी भी तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *