ट्रैक्टरों के पिट पास पर डंफर और ट्रकों से हो रहा था परिवहन , रेत से भरे 38 ट्रक ,डम्फर पकडे

छतरपुर,हरपलापुर में मंगलवार की रात नौगांव एसडीएम के अमले ने बड़ी कार्यवाही करते हुये बालू का अवैध रूपपरिवहन करते हुये 38 ट्रक डंफर पकड़े। कार्यवाही के दौरान रेत का परिवहन कर रहे ट्रकों डंफरो से फ़र्जी पिट पास सहित कही खदान कही से रेत भर कर यूपी ले जाने की बात सामने आई। यह कार्यवाही 12 घंटे तक चली इतनी बड़ी कार्यवाही जिला कलेक्टर के निर्देश पर राजस्व अमले द्वारा की गई
सभी वाहनों पर प्रकरण दर्ज़ कर जिला कलेक्टर के समझ प्रतिवेदन भेजा जायेगा।
रात में हुई अचानक कार्यवाही से एमपी यूपी के रेत माफियों में हड़कंप मच गया। रेत भरे ट्रक डंफर मऊरानीपुर के रास्ते यूपी निकल गये।
मंगलवार की रात नौगॉव एसडीएम बीबी गंगेले ,तहसीलदार जिया फातिमा नायब तहसीलदार परशुराम गुप्ता ,संजय गर्ग पटवारी हरिनारायण शर्मा ,आशीष पांडेय ,भानु चौबे ,सुधीर चतुर्वेदी ,मोहन लाल प्यासी ,रामावतार वर्मा ,दयाराम अहिरवार राजेंद्र शिवहरे पंजक द्विवेदी राजस्वअमला विशेष रूप से उपस्थित रहा।
जिले में अवैध उत्खनन का कारोबार प्रशासन की कार्यवाही के बाद भी थमने का नाम नहीं ले रहा हैं बीते रोज एमपी यूपी के रेत माफियों के गठजोड़ कर जिला प्रशासन को ठेंगा दिखाते हुये हरपलापुर रेल्वे स्टेशन से बालू से भरी मालगाड़ी की ५८ बोगी कानपुर यूपी भेज दी। जिसका विरोध आप पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा मालगाड़ी के सामने लेट कर विरोध प्रदर्शन किया था। रेत भरी मालगाड़ी यूपी भेजने के बाद एमपीयूपी के रेत माफियों ने मिलीभगत कर टीकमगढ़ जिले में स्थित रेत खदानों की फ़र्जी पिट पास पर हरपलापुर होकर यूपी बालू से भरे ट्रक परिवहन का करने का नया तरीका निकाला। एमपी में अवैध उत्खनन कर रेत यूपी भेजी जा रही थी विगत एक सफ्ताह से नगर से सैकड़ों की संख्या में बालू से भरे ट्रक निकले से रहे थे।
अवैध रेत परिवहन का ममला मिडिया द्वारा बार बार उछाले जाने के बाद जिला कलेक्टर के निर्देश पर मंगलवार की रात नौगांव एसडीएम तहसीलदार राजस्व अमले ने नगर में देर रात 10 बजे से बुधवार सुबह 10 बजे तक कार्यवाही करते हुये 38 रेत से भरे वाहनों को यूपी रेत ले जाते हुये पकड़ा। कुछ वाहनों के चालक कार्यवाही से बचने लिये वाहन सड़क के किनारे छोड़ कर भाग गये लेकिन प्रशासनिक अमले द्वारा इन वाहनों के पहियों की हवा निकाल दी गई।
रात में की गई कार्यवाही से जहा रेत माफियों में हड़कंप मच गया वही कार्यवाही के दौरान थाना परिसर में बालू से भरे ज़ब्त वाहन रखने की जगह नहीं बची थी। साथ कार्यवाही के दौरान एक सफ़ेद रंग की स्कॉर्पियो क्रमांक यूपी 78 इ एल 9000 वाहन को पकड़ा। जिस में दो लोग सवार थे सुबह जिनको वाहनों पर कार्यवाही के बाद छोड़दिया गया।
राजस्व अमले द्वारा की बालू के वाहनों पर कार्यवाही के दौरान जब्त किये गये टीकमगढ़ जिले की बालू खादानो के पिट पास फ़र्जी पाये गये। साथ 10 घन मीटर रेत लेजाने की जगह इन वाहनों में 24 से 30 घन मीटर ओवर लोड बालू लदी थी। कुछ वाहनों की जाँच दौरान जो पिट पास मिले वो ट्रैक्टरों के निकले। रेत माफियो द्वारा 10 घन मीटर रेत के पिट पास पर 4000 रुपए के बदले 14800 रुपए वाहनों से वसूले जा रहे थे। पिट पास में खदान पठारी ,बेला ,के नाम डिजियाना इडस्ट्री प्र.ली.एवं शिवा कोर्पोरेशन कपंनी के ठेके के पिट पास रेत माफियों द्वारा वाहनों को दिये जा रहे थे। वाहनों के चालकों ने बताया कि टीकमगढ़ की रेत खदानों के स्थान पर हरपलापुर से करीब 20 किलोमीटर दूर स्थित नदी से बालू ट्रकों भरी जा रही थी। एमपी यूपी के रेत माफियों ने अलीपुरा के खकोरा धर्मपुरा टीला घाट पर प्रशासन कार्यवाही के बाद हरपालपुर के रास्ते से यूपी से होकर टीकमगढ़ छतरपुर जिले का बटवारा करने वाली धसान नदी पर अवैध उत्खनन का नया तरीका निकाला। जिला प्रशासन की रेत माफियो के ख़िलाफ़ की गई इतनी बड़ी कार्यवाही से रेत माफियो के होश उड़ गए। चर्चा का विषय कि जिला प्रशासन इतनी तत्परता पहले दिखा दो रेत से भरी 58 बोगी की मालगाड़ी यूपी रेत लेकर न जा पाती।

इनका कहना
एसडीएम नौगांव बी.बी गंगेले बताया कि 38 वाहनों पर ओवर लोड बालू भरने फर्जी पिट पास की मिलने पर कार्यवाही की गई। उन्होंने पुस्टि करते हुए कहा कि पिट जिस रेत खदान दिये गये वहा से रेत भर कर कही और से अवैध खदान से भर कर ला रहे आज सभी जब्त वाहनों के प्रकरण बना कर जिला कलेक्टर के पास भेजे जाएँगे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *