पाकिस्तान की आर्थिक मदद को रोक सकता है अमेरिका

वाशिंगटन,आतंकी संगठन हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कदम उठाने में कोताही बरतने की वजह से अमेरिका पाकिस्तान को 35 करोड़ डॉलर (करीब 2258 करोड़ रुपये) की आर्थिक मदद रोक सकता है। अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि 90 करोड़ डॉलर (करीब 5807 करोड़ रुपये) की गठबंधन सहायता राशि में से पाक को शेष रकम मिलने की उम्मीद नहीं है। कांग्रेस की शर्तों के अनुसार अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ पाक की ओर से उठाए गए कदमों की समीक्षा शुरू कर दी है। इस आतंकी संगठन को अफगानिस्तान में अपने हितों के लिए अमेरिका गंभीर खतरा मानता है। सूत्रों ने शुरुआती समीक्षा रिपोर्ट और प्रतिक्रियाओं के आधार पर कहा है कि कांग्रेस पाकिस्तान को मदद को मंजूरी नहीं देगी। मदद के लिए रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से जून के अंत तक पाकिस्तान को हक्कानी नेटवर्क पर पर्याप्त कदम उठाने का प्रमाण-पत्र हासिल करना होगा।
पेंटागन के प्रवक्ता एडम स्टंप ने बताया कि इस संबंध में अब तक कोई फैसला नहीं किया गया है। हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कार्रवाई को लेकर पाक से सूचनाएं मिलने के बाद अमेरिका अपने स्तर पर इनकी पुष्टि करेगा। इसके बाद ही इस संबंध में अंतिम फैसला होगा। हक्कानी नेटवर्क ने अफगानिस्तान में अमेरिकी हितों को निशाना बनाकर दर्जनों हमले किए हैं। वह भारतीय प्रतिष्ठानों को भी निशाना बनाता रहता है। 2008 में काबुल में भारतीय मिशन पर इस आतंकी संगठन के हमले में 58 लोग मारे गए थे। गौरतलब है कि पाकिस्तान गठबंधन सहायता कोष (सीएसएफ)के तहत अमेरिका से मदद पाने वाला सबसे बड़ा देश है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *