रतलाम, इंदौर के नमकीन क्लस्टर में भू-खण्डों की ऑनलाइन बुकिंग शुरू

भोपाल, वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा प्रदेश के रतलाम जिले के करमदी में नवीन औद्योगिक क्षेत्र नमकीन क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। इसी तरह इंदौर के सुखलिया में भी नमकीन क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। इन दोनों क्षेत्रों में विभाग द्वारा बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जाकर नवीन औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकास किया गया है। प्रदेश में इंदौर और रतलाम का नमकीन देश भर में तो प्रसिद्ध है ही बल्कि विदेशों में भी निर्यात किया जा रहा है। नमकीन निर्माण की इकाइयों को बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के मकसद से रतलाम, इंदौर में नमकीन क्लस्टर का विकास किया जा रहा है। क्लस्टर में नमकीन उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ रोजगार के अवसर बढ़ेगें।
नमकीन क्लस्टर एवं अलाईड फूड इण्डस्ट्रीज नवीन औद्योगिक क्षेत्र ग्राम करमदी जिला रतलाम में विकसित किया जा रहा है। इस क्षेत्र को केन्द्र सरकार की एमएसई-सीडीपी योजना में करीब 22 करोड़ 75 लाख रुपये मंजूर किये गये हैं। क्लस्टर का विकास कार्य 18.15 हेक्टेयर भूमि पर किया जा रहा है। यह औद्योगिक क्षेत्र रतलाम-झाबुआ राजमार्ग पर रतलाम शहर से 3 किलोमीटर दूर है। क्षेत्र विकास के प्रथम चरण में 3 किलोमीटर की सीमेन्ट-कांक्रीट सडक़, स्ट्रीट लाईट, जल प्रदाय योजना, वाटर-ड्रेनेज लाईन आदि विकास कार्य तेजी से किये जा रहे हैं। पहले चरण के कार्य लगभग पूरे कर लिये गये हैं। प्रथम चरण के कार्यों पर करीब 15 करोड़ 50 लाख रुपये की राशि खर्च की जा चुकी है। नमकीन क्लस्टर करमदी में 87 हजार 629 वर्गमीटर के 124 भू-खण्ड उपलब्ध है। भू-खण्डों की ऑनलाइन बुकिंग की जा रही है।
नवीन औद्योगिक क्षेत्र नमकीन क्लस्टर ग्राम सुखालिया इंदौर में 5.12 हेक्टेयर भूमि पर विकसित किया जा रहा है। सुखलिया औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिये करीब 11.50 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। क्षेत्र के विकास के लिये कई चरण में विकास के कार्य किये जा रहे हैं। अधोसंरचना के विकास का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है। इनमें 1.3 किलोमीटर सीमेंट-कांक्रीट सडक़ निर्माण, 2 किलोमीटर आर.सी.सी. स्टॉर्म वॉटर ड्रेन, कम्पाउण्ड वाल, रिटेनिंग वाल, इण्डस्ट्री भवन, नर्मदा जल आधारित जल प्रदाय योजना और विद्युत संबंधी कार्य पूरे किये गये हैं। इस क्लस्टर में आवंटन योग्य भूमि 2.06 हेक्टेयर है। इसमें विभिन्न आकार के 33 भू-खण्ड नियोजित किये गये हैं। भू-खण्डों की ऑनलाइन बुकिंग की जा रही है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *