Shivraj का जन्म दिन Sewa Diwas के रूप में मनाया

भोपाल,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्म दिन आज प्रदेश भर में भाजपा ने सेवा दिवस के रूप में मनाया। उधर, सीएम ने विदिशा में बेतवा नदी के किनारे स्थित श्री बाढ़ वाले गणेश मंदिर में पहुँचकर पूजा-अर्चना की। मंदिर परिसर में जारी सुन्दर कांड पाठ में भाग लेकर उन्होंने दोहा-चौपाइयों का गान किया।
उन्होंने सपत्निक बाढ़ वाले गणेश मंदिर में चल रहे यज्ञ में शामिल होकर पूर्णाहुति दी। मुख्यमंत्री चौहान को उनके जन्म-दिन पर आज अनेक जन-प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों ने शुभकामनाएँ दी। श्री बाढ़ वाले गणेश मंदिर में मुख्यमंत्री के जन्म-दिन पर आयोजित भण्डारे में अनेक जन-प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिकों के साथ अन्य सभी ने भोजन-प्रसादी ग्रहण की।
आम आदमी के मुख्यमंत्री के रूप मेंचौहान ने सादगी और गरिमा के साथ अपना जन्म दिन मनाया और सभी की शुभकामनाएँ स्वीकार की। उन्होंने दिन की शुरूआत पूजा-अर्चना से की। सुबह से ही बधाई देने वालों का आना शुरू हो गया था जो दोपहर तक चलता रहा। मुख्यमंत्री, पंडित दीनदयाल उपाध्याय रक्तदान शिविर में शामिल हुए। मुख्यमंत्री के जन्म दिन को सेवा दिवस के रूप में मनाया गया। इसमें युवाओं ने जरूरतमंदों के लिए रक्तदान दिया। उन्होंने कहा कि मानवता की सेवा करना ही सबसे बड़ा सौभाग्य है।

उधर,मुख्यमंत्रीचौहान ने वाल्मीकि और सुदर्शन समाज के स्वच्छता सेवा सम्मान में भाग लिया। महापौर आलोक शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि़ मुख्यमंत्री विकास और सेवा का प्रतीक बन चुके हैं। उन्होंने सेवा की विचारधारा बनाई है।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नन्द कुमार सिंह चौहान ने कहा कि शिवराज जी ने राजनीति की धारा बदल दी है। वाल्मीकि समाज के श्री रतन झा ने अभिनन्दन पत्र का वाचन किया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन्म-दिन पर आज उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री-मण्डल के सदस्यों, भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों, सांसदों और समाज के विभिन्न वर्गों के प्रतिनिधियों ने शुभकामनाएँ और बधाई दी।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने बधाई संदेश में मुख्यमंत्री श्री चौहान को यशस्वी बताते हुए ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ और दीर्घायु की कामना की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री जी को उनकी मंगल कामनाओं के लिये सादर धन्यवाद दिया। श्री चौहान ने कहा कि अग्रजों से मिलने वाले स्नेहाशीष से मेरा ह्रदय सदैव प्रफुल्लित रहता है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *