.. लगे ठहाके अधिकारी मेरा फोन ही नहीं उठाते : गौर

भोपाल,विधानसभा में मंगलवार को प्रश्नोत्तरकाल के दौरान उस समय ठहाके गूंजे जब सत्तापक्ष के वरिष्ठ सदस्य एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने राजधानी भोपाल की भानपुर खंती के प्रदूषण से स्थानीय रहवासियों को हो रहे नुकसान का मुद्दा उठाया। उनका कहना था कि भोपाल नगर निगम को करोंद क्षेत्र के भानपुर में शहर का कचरा फेंकने के लिए भूमि दी गई है।
वहां 32 एकड़ क्षेत्र में कचरा एकत्रित हो गया है। जिससे आस-पास की बस्तियों के लोगों को अनेक बीमारियां हो रही हैं। उन्होंने कहा 30 साल हो गए हैं, लोग बीमार न हो इस के लिए क्या कार्यवाही की जा रही है।
प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य गोविन्द सिंह एवं अन्य सदस्यों ने अपने आसन से खड़े हो कर कहा कि गौर लम्बे समय तक इस विभाग के मंत्री रहे हैं और उन्होंने खुद कुछ नहीं किया और अब अपनी ही सरकार से सवाल पूछ रहे हैं।
इस पर गौर ने कहा कि एक विधायक के रूप में सवाल करना मेरा अधिकार है और जवाब देना संबंधित विभाग के मंत्री का कार्य है।
गौर के सवाल का जवाब देते हुए नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह ने माना कि भानपुर क्षेत्र के एक किलोमीटर के दायरे में प्रदूषण पाया गया है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में 550 परिवार ही रह रहे हैं। प्रदूषण को रोकने के लिए दवाओं का छिडक़ाव किया जा रहा है। भूमिगत जल के प्रदूषित होने से हेंडपम्प एवं अन्य जल श्रोत बंद कर स्थानीय लोगों को नर्मदा का पानी उपलब्ध कराया जा रहा है।
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री के जवाब से असंतुष्ट गौर ने कहा कि भानपुरा क्षेत्र के आस-पास बड़ी संख्या में लोग रह रहे हैं। प्रदूषण से 6-7 वार्ड प्रभावित हैं। एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि उस क्षेत्र के अधिकांष लोग अस्वस्थ्य हैं। लोगों को चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए अशोका गार्डन और आनन्द नगर के चिकिल्सालय से चिकित्सक भेजे जाने और वहां 30 बिस्तर का अस्पताल खोले जाने की अनुशंसा की गई है। अधिकारी निरंकुश हो गए हैं, वे सदन को गलत जानकारी दे रहे हैं। उन्हें फोन लगाते हैं तो वे फोन ही नहीं उठाते।
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भी गौर की बात का समर्थन किया और कहा कि गौर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं, उनके फोन का अधिकारी जवाब नहीं दे रहे हैं तो इससे अंदाज लगा सकते हैं कि प्रदेश में किस तरह सरकारी काम-काज चल रहा है।
नेता प्रतिपक्ष के इस कटाक्ष पर सदन में एक बार फिर ठहाके लगे। इस पर श्री गौर ने कहा कि वह अपने क्षेत्र की समस्या सदन के सामने रख रहे हैं। समस्या गंभीर है, मौके पर जाकर निरीक्षण किया जाए तो वस्तुस्थिति सामने आयेगी। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह ने गौर को आष्वस्त किया कि जल्दी ही वे उनके साथ चल कर भानपुरा क्षेत्र का निरीक्षण करेंगी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *