कांग्रेस राजनीति को व्यक्तिगत विद्वेष तक ले जा रही : शिवराज

बालाघाट,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हर एक राजनीतिक दल को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने का अधिकार है। लेकिन 14 साल सत्ता से बाहर रहने के कारण कांग्रेस के नेता लोकतांत्रिक मर्यादाएं और परंपराओं को भूल चुके हैं। कोई दल जब राजनीतिक यात्रा पर निकला है और विपक्ष यह योजना करे कि हर जगह उस यात्रा में गड़बड़ी हो, काले झंडे दिखाए जाए, यात्रा में व्यवधान हो मध्यप्रदेश के राजनीतिक इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। कांग्रेस द्वारा राजनीति को व्यक्तिगत विद्वेष तक ले जाने का काम किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह बात गुरूवार को बालाघाट में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। मुख्यमंत्री के साथ पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, सांसद बोधसिंह भगत, वरिष्ठ मंत्री गौरीशंकर बिसेन, प्रदेश सहमीडिया प्रभारी सर्वेश तिवारी उपस्थित थे। उन्होंने कांग्रेस द्वारा किए जा रहे अलोकतांत्रिक आचरण की निंदा करते हुए कहा कि राजनीति में शालिनता से बात करने की परंपरा रही है विपक्ष को मैदान में मुकाबला करने का अधिकार है, लेकिन पिछले दिनों कांग्रेस नेताओं द्वारा कुछ ऐसे शब्दों का उपयोग किया जा रहा है जो कि निंदनीय है। कभी मुझे वैश्या तो कभी जनरल डायर और कभी नालायक तक कांग्रेस कहा गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा कमर से नीचे वार और गड़बड़ करने की कोशिश की जा रही है, यह लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी लोकतांत्रिक तरीके से बात रखती है, हमारी दृष्टि हमेशा विकास और प्रदेश को आगे बढ़ाने की रही है। सामाजिक, आर्थिक विकास में हम विश्वास करते हैं लेकिन कांग्रेस का यह आचरण लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *