मौनी ने दूरदर्शन से सीखीं हैं अभिनय की बारीकियां

मुंबई,टेलीविजन की लोकप्रिय अभिनेत्रियों में शुमार मौनी रॉय फिल्म “गोल्ड” से बालीवुड में अच्छी शुरूआत कर चुकी हैं। उनकी झोली में करण जौहर की ‘ब्रह्मास्त्र’ और जॉन अब्राहम के साथ “रॉ: रोमियो अकबर वाल्टर” जैसी बड़ी फिल्में हैं। उन्होंने कहा अभिनय की बारीकियां टीवी सीरियलों में काम करते हुए सीखी है। यहीं से बालीवुड की तरफ जाने के रास्ते निर्मित हुए। 32 वर्षीय इस अभिनेत्री ने बताया मैं अपने जीवन के इस हिस्से को और आने वाले अवसरों को लेकर बहुत उत्साहित हूं। मुझे अब भी विश्वास नही हो रहा है कि मुझे ब्रह्मास्त्र और रॉ जैसी बड़ी फिल्मों का हिस्सा बनने का मौका मिला है। मैं अच्छा काम करने की पूरी कोशिश करूँगी। मैंने दोनो फिल्मों ‘ब्रह्मास्त्र’ और ‘रोमियो अकबर वाल्टर’ पर काम करना शुरू कर दिया है। अभिनेत्री ने आगामी फिल्मों में उनकी भूमिका के बारे में जानकारी देने से इनकार कर दिया।”ब्रह्मास्त्र” में, वह रणबीर कपूर, आलिया भट्ट और अमिताभ बच्चन जैसे बड़े कलाकारों के साथ काम करेंगी।
मौनी कहती हैं उन्हें टीवी अभिनेत्री होने पर गर्व है और भविष्य में अगर अच्छा काम मिला तो वह जरुर करेंगी। उन्होंने कहा मुझे अभिनय पसंद है। फिल्मों में अभिनय बस उसका एक विस्तृत रुप है। मेरे लिए फिल्म में एक अच्छी कहानी और भूमिका मायने रखती है। जो फिल्में मैं करुंगी उन्हें मैने नहीं चुना है, बल्कि निर्माताओं ने मुझे इन फिल्मों के लिए चुना है। नागिन सीरियल से लोकप्रियता हासिल करने वाली मौनी ने कहा अभी मेरे पास मेरी फिल्मों को पूरा करने के अलावा कुछ करने का समय नहीं है। ये काम पूरा होने के बाद मैं कुछ भी रोमांचक और चुनौतीपूर्ण काम करने के लिए तैयार हूं। एक अभिनेत्री के रूप में मेरा मुख्य काम अभिनय करना है।
छोटे पर्दे पर नौ साल अभिनय का अनुभव होने के बाद भी ‘गोल्ड’ में काम करते हुए मौनी एक शुरूआती कलाकार जैसा महसूस कर रही थी। उन्होंने बताया टीवी पर मेरे अनुभव ने मुझे काम करने का ढंग सिखाया और एक अनुशासित अभिनेत्री बनाया। जब ‘गोल्ड’ में काम करना शुरू किया, तो मैंने सब कुछ नए तरीके से शुरू किया। अनुभव से मदद मिलती है, लेकिन किरदार को आत्मसात करना अलग बात है । मौनी ने कहा कि ‘गोल्ड’ की सफलता से वह बहुत खुश हैं। उनके प्रदर्शन पर कमजोर प्रतिक्रिया मिलने के सवाल पर वह कहती हैं मुझे मेरे परिवार और दोस्तों से सिर्फ अच्छी प्रतिक्रियायें मिल रही है। मुझसे प्यार के कारण वे थोड़े पक्षपाती हो सकते हैं। मैंने केवल अच्छी समीक्षाएं पढ़ी हैं, क्योंकि बुरे पर ध्यान क्यों दिया जाए। मुझे लगता है कि आलोचकों ने अच्छा काम किया होगा। गोल्ड में अक्षय कुमार के साथ काम करने वाली मौनी ने कहा गोल्ड’ विविधतापूर्ण कहानी है। यह केवल स्वर्ण पदक जीतने के बारे में नहीं है बल्कि फिल्म के सभी किरदारों के आपसी रिश्तों की कहानी है। विभाजन के समय टीम कैसे अलग हो गई है, यह बताने के साथ ही यह टीम भावना के महत्व को भी उजागर करती है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *