कर्नाटक का घमासान कांग्रेस के 3 और JDS के दो विधायक लापता,भाजपा ने येदुरप्पा को चुना विधायक दल का नेता

बेंगलुरु,कर्नाटक विधानसभा चुनाव में त्रिशंकु नतीजे के बाद आप सभी की निगाहें कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई बाला के निर्णय पर टिकी हुई है। कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बनाने का दावा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में पेश किया है। वही कांग्रेस और जदएस के गठबंधन ने भी स्पष्ट बहुमत होने का दावा पेश कर दिया है। 224 सदस्यों वाली विधानसभा में 222 विधायक चुने गए है। 112 विधायक स्पष्ट बहुमत के लिए जरूरी है। भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस और जनता दल एस ने विधायक दल की बैठक बुलाकर विधायक दल का नेता चुन लिया है।
जनता दल एस के नेता कुमार स्वामी ने स्पष्ट किया, कि भारतीय जनता पार्टी के साथ उनके गठबंधन का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता है। वही कांग्रेस विधायक दल की बैठक में तीन विधायक नहीं पहुंचे है। कांग्रेस द्वारा उनके लापता होने की बात कही जा रही है। इसी तरह जनता दल एस विधायक दल की बैठक में दो विधायक राजा वेंकटप्पा नायक और व्यंकट राव नादागोड़ा नहीं पहुंचे हैं।
भारतीय जनता पार्टी विधायक दल की बैठक में, पूर्व मुख्यमंत्री येदुरप्पा को विधायक दल का नेता चुना गया है। विधायक दल की बैठक के बाद वह राजभवन के लिए रवाना हो गए हैं जहां पर वह विधायक दल की बैठक मे नेता चुने जाने की सूचना राज्यपाल को देंगे। केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने कहा, भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है। वही सरकार बनाने मैं सक्षम है।
जनता दल एस के कुमार स्वामी ने स्पष्ट किया है कि उनका गठबंधन कांग्रेस के साथ है। वह वह कांग्रेस के साथ रहकर ही सरकार बनाएंगे कुमार स्वामी ने यह भी कहा कि 5 विधायकों से भाजपा के नेताओं ने संपर्क किया था किंतु उन्होंने भाजपा के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी उनके विधायकों को तोड़ने का प्रयास कर रही है।
विधायकों को लेकर अटकलें
कर्नाटक के हैदराबाद क्षेत्र के चार विधायक राज शेखर पाटिल नरेंद्र और अनंत सिंह बैठक में नहीं पहुंचे हैं। सूत्रों द्वारा जानकारी दी जा रही है कि कांग्रेस के लापता तीन विधायक रेडी बंधुओं के संपर्क में है वही जनता दल एस के विधायक राजा वेंकटप्पा नायक और व्यंकटराव नादा गोड़ा को लेकर भी अटकलों का दौर चल रहा है।
कांग्रेस के नेता रामलिंग रेडी ने कहा कि उन्हें अपने सभी विधायकों पर पूर्ण विश्वास है। भाजपा उन्हें तोड़ने के लिए बड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने भाजपा के ऊपर आरोप लगाया कि वह लोकतंत्र में विश्वास नहीं करते है। किसी भी तरह सत्ता को पाना चाहते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, उनका कोई विधायक लापता नहीं है। हमें उन पर पूरा विश्वास है। कांग्रेस और जनता दल एस गठबंधन की कर्नाटक में सरकार बनेगी कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस के विधायकों को प्रलोभन दे रही है। लेकिन कांग्रेस के विधायक भाजपा के किसी प्रलोभन में नहीं आ रहे है।
राज भवन बना अखाड़ा
कर्नाटक का राजभवन इस समय अखाड़ा बना हुआ है। भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल के नेता येदुरप्पा ने विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद पत्र देकर सरकार बनाने का आज फिर दावा किया है। वहीं जनता दल एस और कांग्रेस गठबंधन की विधायक दल की बैठक के बाद राजभवन में दावा पेश कर दिया है। कांग्रेस और भाजपा के बड़े-बड़े दिग्गज नेता राजभवन के संपर्क में है। सभी को राज्यपाल क्या निर्णय लेते है, इसका इंतजार कर रहे है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *