पूर्व मुख्यमंत्री ने फिर घेरा अपनी ही सरकार को,चौपट हो गई प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था : गौर

भोपाल,प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर अपनी ही सरकार को कटघरे में खडा करने से नहीं चूक रहे हैं। इस बार उन्होंने प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को लेकर सरकार को जबर्दस्त घेराव किया। विधानसभा में प्रश्नोत्तरकाल के दौरान उन्होंने बीएलओ के रुप में प्रदेश के शिक्षकों का संलग्नीकरण करने का मामला उठाते हुए कहा कि इससे प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गई है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन का कार्य सिर्फ शिक्षकों से ही क्यों करवाया जा रहा है, अन्य सरकारी विभाग के अधिकारी- कर्मचारियों को क्यों नहीं इस काम में लगाया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 45 हजार शिक्षकों की कमी बनी हुई है इसके बावजूद 41340 शिक्षकों को निर्वाचन कार्य में लगा दिया गया। यह ठीक नहीं है। प्रश्न के जवाब में राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य ने बताया कि प्रदेश की पढाई व्यवस्था किसी भी कीमत पर चौपट नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि शासकीय कार्य के दौरान यह काम नहीं लिय जाता है। शनिवार/ रविवार सरकारी अवकाश के दिनों में यह काम लिया जाता है। इसका मानदेय भी दिया जाता है। उन्होंने जानकारी दी कि ऐसा नही हैं कि मात्र शिक्षकों को ही इस काम में लगाया जाता है अन्य विभागों के कर्मचारियों को इस काम लगाया जाता है। एक अन्य पूरक प्रश्न में श्री गौर ने विभागवार निर्वाचन कार्य में लगाए गए कर्मचारियों की सूची उपलब्ध कराने की मांग की, जिसे श्री आर्य ने विभागवार जानकारी पहुंचाने का आश्वाशन श्री गौर को दिया। उत्तर से असंतुष्ट श्री गौर ने कहा कि यह बात ठीक नहीं है, जानकारी अभी उपलब्ध करवाई जाए। उनके इस सवाल के तुरंत बाद प्रश्नोत्तरकाल समाप्त हो गया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *