ठाणे रेलवे स्टेशन देगा एयरपोर्ट को टक्कर, 3 साल में तैयार होने की उम्मीद

मुंबई, भारतीय रेलवे को मोदी सरकार नया रूप देने में जुटी हुई है. इसके लिए भारतीय रेलवे सुरक्षा मानकों के लिए नई तकनीक अपनाने के साथ ही रेलवे स्टेशनों का पुनर्रविकास कर रही है. इसी के तहत अगले तीन साल के भीतर देश के जिन 10 रेलवे स्टेशनों को एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं से लैस किया जाएगा उसमें मुंबई से सटा ठाणे रेलवे स्टेशन का भी समावेश है. बताया जा रहा है कि 2020 तक ये सभी रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट की तरह नजर आने लगेंगे. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन (एनबीसीसी) को इन रेलवे स्टेशनों को एयरपोर्ट सी सुविधाओं से लैस करेन का जिम्मा सौंपा गया है. कंपनी को यह काम 2020 तक निपटाना होगा. खबर के मुताबिक इन रेलवे स्टेशनों का पुनर्रविकास करने में 5000 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे. इस योजना का क्रियान्वयन करने के लिए भारतीय रेल और एनबीसीसी के बीच समझौता ज्ञापन हो चुका है. वैसे तो परियोजना की समय सीमा तीन साल रखी गई है, लेकिन एनबीसीसी इन्हें अगले ढाई साल में ही पूरा कर लेना चाहती है. सूत्रों के मुताबिक इनमें से कुछ स्टेशनों पर इसी साल दिसंबर से काम शुरू हो जाएगा. इसके अलावा कुछ एक पर जनवरी से भी काम शुरू हो सकता है.
– ये रेलवे स्टेशन हैं शामिल
2020 तक जिन रेलवे स्टेशनों को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा. इसमें दिल्ली का सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशनल, लखनऊ, गोमती नगर, कोटा, तिरुपती, नेल्लोर, एर्नाकुलम, पुडूचेरी, मडगांव और ठाणे रेलवे स्टेशन शामिल है. इन रेलवे स्टेशनों को एयरपोर्ट की तर्ज पर तैयार किया जाएगा. इसका मतलब यह है कि जो भी सुविधाएं आपको एयरपोर्ट पर मिलती हैं, वही सब सुविधाएं आपको इन रेलवे स्टेशनों पर भी मिलेंगी.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *